केसर इतना महंगा क्यों है असल कारण जानिये | Why Saffron Is So Expensive?

केसर इतना महंगा क्यूँ है

खाने से लेकर पेय-पदार्थो और पूजा से लेकर मसालों तक में उपयोग किये जाने वाला केसर दुनिया का सबसे महँगा मसाला है। ऐसे में अधिकतर लोगो के मन में यह सवाल उठना स्वाभाविक है की आखिर केसर इतना महंगा क्यूँ होता है। केसर का उपयोग हम विभिन प्रकार की खाद्यवर्धक वस्तुओं के रूप में स्वाद को बढ़ाने एवं फिनिशिंग देने के लिए करते है साथ ही विभिन कार्यो के लिए भी केसर का बहुतायत से उपयोग होता है। ऐसे में यह जानना रोचक है की केसर इतना महंगा क्यों होता है ? चलिए आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले है की केसर इतना महँगा क्यों होता है ? (Why Saffron Is So Expensive?) साथ ही इस आर्टिकल के माध्यम से आपको केसर की खेती और इसके उत्पादन सम्बंधित अन्य जानकारियाँ भी प्रदान की जाएँगी।

यह भी देखें :- भारत से अमेरिका कितने किलोमीटर है

केसर इतना महंगा क्यूँ है
केसर इतना महंगा क्यूँ है

कितना महँगा है केसर

केसर का उपयोग हमारे देश में विभिन कार्यो के लिए किया जाता है। हालांकि आप यह जानकार हैरान होंगे की वर्तमान समय में एक किलो केसर की कीमत 3 लाख से साढ़े 3 लाख रुपए तक है जो की दुनिया में किसी भी मसाले की सबसे अधिक कीमत है। केसर एक खुशबूदार पौधा होता है जिसके फूलों से केसर निकाला जाता है। केसर को अंग्रेजी में Saffron और स्थानीय भाषा में जाफरान भी कहा जाता है। केसर का उपयोग खाद्य के अलावा ठंडाई में भी किया जाता है जो की आयुर्वेदिक गुणों के कारण प्रसिद्ध है।

saffron farming

केसर की खेती भारत के सिर्फ जम्मू और कश्मीर क्षेत्र में की जाती है। यहाँ जम्मू के किश्तवाड़ तथा कश्मीर के पामपुर (पंपोर) जिलों में कुछ ही क्षेत्रों में केसर की खेती की जाती है। केसर के फूल को क्रोकस कहते है जिसके अंदर से केसर के धागे निकाले जाते है। हमारे देश में जम्मू-कश्मीर क्षेत्र में केसर की खेती मुख्यता सितंबर से दिसंबर माह में ही की जाती है। आपको बता दे की केसर की खेती के लिए ठंडी जलवायु की आवश्यकता होती है यही कारण है की देश के सुदूर उत्तरी-भाग में ही केसर की खेती की जाती है।

केसर इतना महंगा क्यों है, ये है असल कारण

केसर के प्रतिकिलोग्राम की कीमत 3 लाख रुपए से साढ़े 3 लाख रुपए तक होती है ऐसे में आइये जानते है केसर के महंगे होने के कारणों को :-

  • मानवीय श्रम की अधिकता- वर्तमान में जहाँ हम खेती के लिए मशीनो का उपयोग करते है वही केसर उत्पादन में अभी भी मानवीय श्रम का अधिक उपयोग होता है। केसर के फूलों को हाथ से ही निकालना पड़ता है ऐसे में यहाँ अधिक मानव-श्रम की आवश्यकता होती है। केसर के फूल नाजुक होने के कारण हाथों से अलग किये जाते है अन्यथा इनके ख़राब होने का खतरा रहता है।
  • फूलो का अल्प-जीवनकाल-केसर के फूल बहुत कम समय के लिए खिलते है ऐसे में इन्हे उसी दिन तोड़ना आवश्यक होता है यही कारण है की केसर महँगा होता है।
  • जलवायु- केसर की खेती के लिए ठंडी जलवायु की आवश्यकता होती है और इसकी खेती दुनिया में बहुत कम स्थानों पर की जाती है। भारत में भी इसकी खेती जम्मू-कश्मीर प्रदेश में ही की जाती है। अधिक उत्पादन ना होने के कारण भी केसर महँगा होता है।
  • कम-उत्पादन- केसर के महंगे होने का सबसे प्रमुख कारण है उपज की तुलना में कम उत्पादन। केसर का जो फूल होता है उसे क्रोकस कहा जाता है। केसर के एक फूल से केसर के सिर्फ 3 ही धागे निकलते है ऐसे में 75,000 फूलों से केसर को इकठ्ठा करने पर सिर्फ 400 ग्राम केसर ही प्राप्त होती है। यही कारण है की केसर को इतने महँगे दामों में बेचा जाता है।

केसर का क्या-क्या है उपयोग

केसर का हमारे देश में बहुतायत में उपयोग किया जाता है। खाद्य-पदार्थो में इसे गरम-मसाले के रूप में उपयोग किया जाता है साथ ही इसे हलवे के साथ फिनिशिंग के रूप में उपयोग करते है। हमारे धार्मिक रीति-रिवाजों में भी केसर का टीका लगाना शुभ माना जाता है। साथ ही विभिन प्रकार के ठन्डे-पेय पदार्थो और दूध में भी केसर को मिलाकर पीया जाता है। केसर के आयुर्वेदिक गुणों के कारण इसे आयुर्वेद में भी स्वास्थ्यवर्धक औषधि के रूप में अत्यंत महत्व दिया गया है। केसर के उपयोग से हमारी रोग-प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है।

केसर सम्बंधित अकसर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQ)

केसर क्या होता है ?

केसर एक प्रकार का फूल होता है जिसे गर्म मसालों के रूप में उपयोग किया जाता है।

भारत में केसर मुख्यत कहाँ पाया जाता है ?

भारत में केसर मुख्यत जम्मू के किश्तवाड़ तथा कश्मीर के पामपुर (पंपोर) जिलों में उगाया जाता है। केसर की खेती के लिए ठंडी जलवायु की आवश्यकता होती है।

केसर की प्रति-किलोग्राम कीमत कितनी है ?

केसर की प्रति किलोग्राम कीमत 3 से साढ़े 3 लाख रुपए तक है। हालांकि हर वर्ष इसकी कीमतों में बढ़ोतरी होती है।

केसर इतना महँगा क्यों है ?

केसर का महंगा होने के निम्न कारण है :- कम-उत्पादन, अधिक-श्रम और निश्चित जलवायु क्षेत्र में केसर की खेती का सीमित होना। ऊपर लेख के माध्यम से आप केसर के महंगा होने के विस्तृत कारण सम्बंधित जानकारी प्राप्त कर सकते है।

The post केसर इतना महंगा क्यों है असल कारण जानिये | Why Saffron Is So Expensive? appeared first on CRPF India.

You may like these posts

-->