Richest Woman in Asia: सावित्री जिंदल बनीं एशिया की सबसे अमीर महिला, जानें कैसे पहुंची इस मुकाम पर

savitri jindal, Richest Woman in Asia

हमारे देश की महिलाओ ने दुनिया के हर क्षेत्र में अपना मुकाम हासिल किया है। ऐसे में व्यापार के क्षेत्र में भी देश की महिलाओं ने अपना वर्चस्व लहराया है। हाल ही में जिंदल ग्रुप की चेयरपर्सन सावित्री जिंदल ने चीन की बिजनेस टाइकून यांग हुआयन को पछाड़कर एशिया की सबसे अमीर महिला होने का खिताब हासिल किया है। ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स में प्रकाशित एशिया की सबसे आमिर महिलाओं की सूची में 18 बिलियन डॉलर की सम्पति के साथ सावित्री जिंदल को पहला स्थान दिया गया है। इस लिस्ट के साथ ही सावित्री जिंदल एशिया की सबसे अमीर महिला (Richest Woman in Asia Savitri Jindal) का खिताब अपने नाम करने में सफल रही है। चलिए जानते है सावित्री जिंदल कैसे बनीं एशिया की सबसे अमीर महिला और कैसा रहा उनका इस मुकाम पर पहुंचने का सफर

savitri jindal, Richest Woman in Asia
savitri jindal, Richest Woman in Asia

चीन को पछाड़कर बनी एशिया की सबसे अमीर महिला

सावित्री जिंदल से पूर्व एशिया की सबसे अमीर महिला (Richest Woman in Asia) का खिताब चीन की रियल-स्टेट कारोबारी यांग हुआयन के नाम था। हाल ही में कोविड के कारण उपजे संकट और चीन की खस्ताहाल होती अर्थव्यवस्था से यांग हुआयन की सम्पति में अप्रत्याशित रूप से गिरावट दर्ज की गयी है। यांग हुआयन चीन ही नही बल्कि पूरे एशिया में पिछले 5 वर्षो से सबसे अमीर बिजनेसवुमेन के पद पर काबिज थी। चीन के रियल-एस्टेट संकट से यांग हुआयन की सम्पति में 50 फीसदी की कमी दर्ज की गयी है। वही सावित्री-जिंदल की सम्पति में कोविड के बाद से लगातार वृद्धि दर्ज की गयी है।

आपको बता दे की फोर्ब्स 2021 द्वारा जारी की गयी भारत के 10 सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में भी वह अकेली महिला बिजनेसवुमेन थी। सावित्री जिंदल वर्ष 2005 में जिंदल-ग्रुप के चेयरमैन ओपी जिंदल के निधन के बाद ग्रुप की चेयरमैन बनी थी जिसके बाद वह कंपनी की कमान संभाल रही है।

18 बिलियन है कुल सम्पति

हाल ही में ब्लूमबर्ग बिलियनेयर्स इंडेक्स द्वारा जारी एशिया की सबसे अमीर महिलाओ की सूची में सावित्री जिंदल की कुल संपत्ति 18 बिलियन डॉलर के करीब है वही यांग हुआयन की कुल सम्पति 12 बिलियन डॉलर के करीब है। वर्ष 2018 में 8.8 बिलियन डॉलर की सम्पति की मालकिन सावित्री जिंदल ने कुल चार वर्षो में ही अपनी सम्पति में अभूतपूर्व वृद्धि दर्ज की है और वर्तमान में उनकी सम्पति 10 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ कुल 18 बिलियन डॉलर हो गयी है। हालांकि कोरोनाकाल के दौरान जिंदल-ग्रुप को भी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था परन्तु शीघ्र ही कंपनी इससे उबर गयी है।

आसान नहीं रहा इस मुकाम पर पहुंचने का सफर

एशिया की सबसे अमीर महिला बनने का सफर सावित्री जिंदल के लिए आसान नहीं रहा है। वर्ष 2005 में जिंदल-ग्रुप के फाउंडर ओपी जिंदल की हेलीकाप्टर हादसे में मृत्यु के बाद कंपनी का दायित्व सावित्री जिंदल के कंधो पर आ गया था जिसके बाद अपनी कार्यकुशलता और नेतृत्वक्षमता की बदौलत उन्होंने एशिया की सबसे अमीर महिला होने का गौरव हासिल किया है। आपको बता दे की जिंदल ग्रुप के संस्थापक ओपी जिंदल सावित्री जिंदल के पति थे जिनकी 2005 में हेलीकाप्टर क्रैश में मौत ही गयी थी। इसके बाद से जिंदल-ग्रुप की कमान सावित्री जिंदल ही संभाल रही है।

savitri jindal

सावित्री जिंदल का जन्म 20 मार्च 1950 को अपर असम के तिनसुकिया जिले में हुआ था। वर्ष 1970 में मात्र 20 वर्ष की कम उम्र में ही उनका विवाह जिंदल ग्रुप के संस्थापक ओपी जिंदल से हो गया था यही कारण रहा की वे कॉलेज की शिक्षा से भी वंचित रही थी। ओपी जिंदल ने स्टील और ऊर्जा के क्षेत्र में कदम रखते हुए जिंदल ग्रुप को स्थापित किया और अपनी मेहनत के बदौलत कंपनी को सफलता की ऊंचाइयों तक पहुंचाया। हालांकि वर्ष 2005 के हेलीकाप्टर हादसे में ओपी जिंदल का अकस्माक निधन हो गया। उस समय सावित्री जिंदल की उम्र 55 वर्ष हो चुकी थी और वे 9 बच्चों की माँ थी। हालांकि इसके बाद उन्होंने जल्द ही इस हादसे से उबरते हुए कंपनी की जिम्मेदारी संभाल ली और आज एशिया की सबसे अमीर महिला होने का गौरव प्राप्त किया है।

सादगी पसंद महिला है सावित्री जिंदल

भारत और एशिया की सबसे अमीर होने के बावजूद सावित्री जिंदल सादगी से रहना पसंद करती है। पति की मृत्यु के समय उनकी उम्र 55 वर्ष हो चुकी थी जिसके बाद उन्होंने अधिक उम्र के बावजूद कंपनी की जिम्मेदारी सँभालने का निर्णय लिया और आज अपनी कंपनी को बखूबी संभाल रही है। वही बात करें 2019-20 के लॉकडाउन की तो इस दौरान इस दौरान उनकी सम्पति में भारी गिरावट दर्ज की गयी थी और उनकी सम्पति मात्र 4.8 बिलियन डॉलर पहुँच गयी थी।

हालांकि पोस्ट-कोविड पीरियड के बाद उन्होंने अपने नेतृत्व क्षमता का परिचय दिया है और यही कारण है की वर्तमान में उन्होंने एशिया की सबसे अमीर महिला (Richest Woman in Asia) का खिताब अपने नाम किया है। आपको बता दे की जिंदल ग्रुप देश में स्टील बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है जो की JSW ब्रांड के नाम से स्टील की मैन्युफैक्चरिंग करती है। इसके अतिरिक्त ऊर्जा, इंफ्रास्ट्रक्चर और सीमेंट कारोबार के क्षेत्र में भी कंपनी की देश में बड़ी हिस्सेदारी है।

सावित्री जिंदल से जुड़े महत्वपूर्ण सवालों के जवाब (FAQ)

सावित्री जिंदल कौन है ?

सावित्री जिंदल जिंदल ग्रुप की अध्यक्ष है जो की देश में स्टील, ऊर्जा, इंफ्रास्ट्रक्चर और सीमेंट के क्षेत्र में अग्रणी कंपनी है।

एशिया की सबसे अमीर महिला कौन है ?

एशिया की सबसे अमीर महिला सावित्री जिंदल है जिन्होंने चीन की यांग हुआयन को पछाड़कर एशिया की सबसे अमीर महिला होने का गौरव हासिल किया है।

जिंदल ग्रुप के संस्थापक कौन है ?

जिंदल-ग्रुप के संस्थापक ओपी जिंदल थे जो की सावित्री जिंदल के पति थे। वर्ष 2005 में एक हेलीकॉप्टर क्रैश में उनकी मृत्यु हो गयी थी जिसके बाद सावित्री जिंदल ने ही कंपनी की कमान संभाली थी।

सावित्री जिंदल का जन्म कब हुआ था ?

सावित्री जिंदल का जन्म 20 मार्च 1950 को ऊपरी असम के तिनसुकिया जिले में हुआ था। उनका विवाह वर्ष 1970 में ओपी जिंदल से हुआ।

जिंदल-ग्रुप किन चीजों में व्यापार करता है ?

जिंदल -ग्रुप देश में स्टील बनाने वाली सबसे बड़ी कंपनी है। इसके अतिरिक्त यह कंपनी सीमेंट, मैन्युफैक्चरिंग और ऊर्जा के क्षेत्र में भी सक्रिय रूप से व्यापार करती है।

The post Richest Woman in Asia: सावित्री जिंदल बनीं एशिया की सबसे अमीर महिला, जानें कैसे पहुंची इस मुकाम पर appeared first on CRPF India.

You may like these posts

-->