प्रसूति सहायता योजना : गर्भावस्था में 16000 रूपये देगी सरकार, ऐसे करें आवेदन

प्रसूति सहायता योजना रजिस्ट्रेशन - MP Prasuti Sahayata Yojana Application Process

प्रसूति सहायता योजना का आरम्भ मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य की आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग की श्रमिक गर्भवती महिलाओं को आर्थिक साहयता प्रदान करने हेतु किया गया है। प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत राज्य में रह रही कमजोर परिवार की गर्भवती महिलाओं को सरकार द्वारा आर्थिक सहायता के रूप में 16000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाती है, जिससे गर्भावस्था के समय गर्भवती महिलाएँ समय-समय पर अपने स्वास्थ्य की जाँच चिकित्सालयों में बिना किसी आर्थिक समस्या के करवा सकें और उन्हें उचित पोषण प्राप्त हो सके। प्रसूति सहायता योजना 2022 के लाभ प्राप्त करने हेतु राज्य की वह सभी गर्भवती महिलाएँ जो Prasuti Sahayta Scheme से सम्बंधित सभी जानकारी जैसे योजना का लाभ, उद्देश्य, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि प्राप्त करना चाहती हैं, तो वह इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

प्रसूति सहायता योजना रजिस्ट्रेशन - MP Prasuti Sahayata Yojana Application Process
प्रसूति सहायता योजना रजिस्ट्रेशन – MP Prasuti Sahayata Yojana Application Process

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना 2022 क्या है ?

MP Prasuti Sahayta Yojana 2022 की शुरुआत मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 1 अप्रैल 2018 में की गई थी, प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाली उन सभी गर्भवती महिलाओं को सरकार द्वारा दी जाने वाली किश्त के साथ-साथ गर्भावस्था के अंतिम 3 महीने में उनकी मजदूरी का 50 प्रतिशत वेतन भी प्रदान किया जाएगा जो मजदूरी या श्रम का कार्य करके अपना जीवन यापन करती हैं, साथ ही इन महिलाओं को चिकित्सा एवं जाँच के समय हुए खर्च पर 1000 रूपये की आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाती है, मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना में आवेदन करने वाली गर्भवती महिलाओं को ही केवल योजना का लाभ प्राप्त हो सकेगा, योजना की आवेदन प्रक्रिया अभी जारी है राज्य की वह महिलाएँ जिन्होंने अभी तक प्रसूति सहायता योजना 2022 के लाभ हेतु आवेदन नहीं किया है, वह दी गई प्रक्रिया को पढ़कर आवेदन कर सकती हैं।

Prasuti Sahayta Yojana में दी जाने वाली सहायता किश्त

यहाँ हम आपको Prasuti Sahayta Yojana में दी जाने वाली सहायता किश्त के विषय में बताने जा रहें है। प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा राज्य की कमजोर श्रमिक महिलाओं को दी जाने वाली 16000 रूपये की धनराशि दो किश्तों में जारी की जाएगी।

  • पहली किश्त :- सरकार द्वारा महिला को प्रसूति से पूर्व, गर्भावस्था के दौरान निर्धारित अवधि में अंतिम तिमाही तक चिकित्सक/ एएनएम द्वारा चार प्रसव पूर्व जाँच करवाए जाने पर 4000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • दूसरी किश्त :- प्रसूति के बाद, सरकारी/शासकीय चिकित्सालय में प्रसव होने और संस्था द्वारा नवजात बच्चे का पंजीयन करवाने के साथ-साथ शिशु को बीमारी व संक्रमण से बचाने हेतु 0 डोज BCG, opv व HepB टीकाकरण करवाने के पश्चात 12000 रूपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।

प्रसूति सहायता योजना एमपी का उद्देश्य

प्रसूति सहायता योजना को जारी करने हेतु सरकार का मुख्य उद्देश्य योजना के माध्यम से राज्य के पिछड़े वर्ग, BPL कार्ड धारक परिवार से ताल्लुक रखने वाली श्रमिक महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान आर्थिक सहायता प्रदान करना है, जो प्रतिदिन मेहनत मजदूरी का कार्य करके अपना और अपने परिवार का भरण पोषण करती हैं, परन्तु गर्भावस्था जैसी स्थिति में वह महिलाएँ कार्य करने में असमर्थ होती है, जिससे इलाज व जाँच करवाते समय होने वाले खर्चों से उनकी आर्थिक समस्याएँ और बढ़ जाती हैं, ऐसी सभी गर्भवती महिलाओं की आर्थिक समस्याओं को योजना के माध्यम से कम करने और उन्हें गर्भावस्था के दौरान चिकित्सा हेतु दी जाने वाली धनराशि के रूप में सहायता देने के लिए ही सरकार इन महिलाओं को योजना के अंतर्गत सहयोग प्रदान करती है, जिससे यह महिलाएँ गर्भावस्था के समय बिना किसी परेशानी के अपने स्वस्थ एवं पोषण की सभी आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकेंगी।

Prasuti Sahayta Yojana 2022 Highlights

योजना का नाम प्रसूति सहायता योजना
किसके द्वारा जारी की गई मध्य प्रदेश सरकार द्वारा
साल 2022
योजना का आरम्भ 1 अप्रैल 2018
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
योजना के लाभार्थी आर्थिक रूप से कमजोर श्रमिक गर्भवती महिलाएँ
सहायता राशि 16000 रूपये
उद्देश्य कमजोर वर्ग की गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहयोग प्रदान करना

मध्य प्रदेश समग्र पोर्टल(SSSM ID)

प्रसूति योजना से मिलने वाले लाभ

एमपी प्रसूति योजना के अंतर्गत दिए जाने वाले लाभ आवेदक नीचे दी गई जानकारी को पढ़कर प्राप्त कर सकते हैं। आप नीचे दी गई जानकारी को पढ़कर योजना के लाभ जान सकते है –

  • प्रसूति योजना के अंतर्गत मध्यप्रदेश के सभी कमजोर परिवार की श्रमिक महिलाओं को योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • श्रमिक योजना का लाभ राज्य की शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाली सभी पात्र महिलाएँ प्राप्त कर सकेंगी।
  • योजना के अंतर्गत राज्य सरकार गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता के रूप में 16000 रूपये धनराशि दो किस्तों में प्रदान करती है।
  • आवेदक महिलाएँ जो गर्भावस्था के समय मजदूरी का कार्य नहीं कर पाती, जिससे उनकी आर्थिक समस्याएं बढ़ जाती हैं उन्हें सरकार द्वारा मजदूरी का आधा 50 प्रतिशत वेतन गर्भावस्था के अंतिम 3 महीने में प्रदान किया जाता है।
  • प्रस्तुत सहायता योजना के अंतर्गत दी जाने वाली धनराशि सीधे आवेदक महिलाओं के बैंक खातों में ट्रांसफर कर दी जाएगी।
  • योजना में मिलने वाले लाभ से आवेदक महिलाएँ आर्थिक सहयोग प्राप्त कर अपने स्वास्थ्य का ध्यान रख सकेंगी और चिकित्सा सम्बन्धी सभी जाँच बिना आर्थिक समस्या के करवा सकेंगी।

Prasuti Sahayta Yojana आवेदन के लिए पात्रता

योजना के अंतर्गत आवेदन हेतु आवेदक महिला को योजना से जुडी सभी पात्रता को पूरा करना आवश्यक है, योजना से जुडी पात्रता आवेदक नीचे दी गयी जानकारी को पढ़कर प्राप्त कर सकते हैं।

  • योजना के अंतर्गत आवेदक महिलाएँ मध्य प्रदेश की स्थाई निवासी होनी चाहिए।
  • योजना का लाभ राज्य की आर्थिक रूप से कमजोर BPL वर्ग की श्रमिक गर्भवती महिलाओं को ही प्रदान किया जाएगा।
  • आवेदक महिला की आयु 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए।
  • प्रसूति सहायता का लाभ शासकीय/ सरकारी चिकित्सालयों में प्रसव होने पर ही महिला को दिया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत आवेदन हेतु महिला के पास योजना से सम्बंधित सभी जरुरी दस्तावेज होना आवश्यक है।
  • आवेदक महिला का बैंक में खाता होना आवश्यक है।
  • एमपी प्रसूति योजना में आवेदन हेतु अन्य राज्य की महिलाएँ आवेदन की पात्र नहीं होंगी।

प्रसूति सहायता योजना के आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

एमपी प्रसूति सहायता योजना के आवेदन हेतु आवेदक के पास योजना से सम्बंधित सभी जरुरी दस्तावेज होना आवश्यक है, बिना पूरे दस्तावेजों के आवेदन प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकेगी, इसलिए आवेदक सभी दस्तावेजों की जानकारी यहाँ से प्राप्त कर सकते हैं। आवेदक महिलाओं को प्रसूति सहायता योजना 2022 का आवेदन फॉर्म भरने के लिए कुछ जरूरी दस्तवेजों की आवश्यकता होगी जिनके विषय में हम आपको नीचे दिए गए पॉइंट्स के द्वारा बता रहें है। ये निम्न प्रकार है –

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • आवसीय प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • गर्भावस्था प्रमाण पत्र
  • श्रमिक पंजीकरण कार्ड
  • बैंक की पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना में आवेदन कैसे करें ?

एमपी प्रसूति श्रमिक सहायता योजना के आवेदन हेतु आवेदक महिलाएँ दी गई प्रक्रिया को पढ़कर आवेदन कर सकती हैं। हमने आपको प्रसूति सहायता योजना 2022 का आवेदन करने की प्रक्रिया के विषय में जानकारी प्रदान की है। देखिये नीचे दिए गए स्टेप्स के माध्यम से –

  • योजना के आवेदन हेतु आवेदक महिला को सबसे पहले अपने नजदीकी परिवार कल्याण विभाग या लोक स्वास्थय केंद्र में जाना होगा।
  • इसके बाद आपको कार्यालय से आवेदन फॉर्म प्राप्त करन होगा।
  • फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे नाम, पता, आयु, गर्भावस्था की तारीख आदि आपको ध्यानपूर्वक भरनी होगी।
  • सारी जानकारी भरने के पश्चात फॉर्म में माँगे गए सभी दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने फॉर्म को कार्यालय में ही जमा करवाना होगा।
  • आवेदक महिलाओं को योजना के लाभ हेतु डिलीवरी से कुछ हफ्ते पहले ही आवेदन करवाना होगा परन्तु यदि वह समय से पहले आवेदन नहीं करवा पाती तो वह प्रसव के बाद भी आवेदन कर सकती हैं।
  • जिसके बाद आवेदन फॉर्म की पूरी तरह से पुष्टि हो जाने के बाद ही आपको योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

प्रसूति सहायता योजना पीडीएफ फॉर्म यहाँ देखें।

Prasuti Sahayta Yojana 2022 से सम्बंधित कुछ प्रश्न और उनके उत्तर

प्रसूति सहायता योजना किसके द्वारा आरम्भ किया गया है ?

Prasuti Sahayta Yojana मध्य प्रदेश राज्य सरकार द्वारा शुरू किया गया है।

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना क्या है ?

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना राज्य सरकार द्वारा जारी की गयी योजना है, जिसके अंतर्गत सरकार राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की श्रमिक गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता के रूप में 16000 रूपये की धनराशि गर्भावस्था के समय होने वाले आर्थिक खर्च को पूरा करने हेतु प्रदान करवाती है।

एमपी प्रसव सहायता योजना का लाभ किन महिलाओं को प्रदान किया जाएगा ?

एमपी प्रसव सहायता योजना का लाभ राज्य की श्रमिक गर्भवती महिलाओं को ही प्रदान किया जाएगा।

योजना को जारी करने हेतु सरकार का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

योजना को जारी करने हेतु सरकार का मुख्य उद्देश्य योजना के माध्यम से राज्य की श्रमिक गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान आर्थिक सहायता प्रदान करना है, जिससे वह सभी महिलाएँ जो गर्भावस्था के समय मजदूरी के कार्य करने में असमर्थ होती है, जिससे उन्हें उन्हें चिकत्सा सम्बंधित खर्चों के कारण आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है, ऐसी सभी महिलाएँ सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता राशि से अपने स्वस्थ एवं पोषण की सभी आवश्यकताओं को पूरा कर सकेंगी।

योजना के आवेदन हेतु किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी ?

योजान के आवेदन हेतु आवेदक महिला के पास उसका आधार कार्ड, आवासीय प्रमाण पत्र, पहचान पत्र
आयु प्रमाण पत्र, गर्भावस्था प्रमाण पत्र, श्रमिक पंजीकरण कार्ड, बैंक की पासबुक, पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ, मोबाइल नंबर आदि दस्तावेज होना आवश्यक है।

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना के आवेदन हेतु कौन सी महिलाएँ योजना के पात्र होंगी ?

मध्य प्रदेश प्रसूति सहायता योजना के अंतर्गत आवेदन हेतु आवेदक श्रमिक गर्भवती महिला होनी चाहिए जो की मध्य प्रदेश की स्थाई निवासी हो, जिसकी आयु 18 वर्ष या इससे अधिक होनी चाहिए साथ ही आवेदक महिला के पास योजना से सम्बंधित सभी दस्तावेजों के साथ-साथ उसका बैंक में खाता होना भी अनिवार्य है तभी वह योजना के आवेदन हेतु पात्र होंगी।

क्या प्रसूति योजना का लाभ केवल मध्य प्रदेश की महिलाओं को ही प्रदान किया जाएगा या अन्य राज्य की महिलाएँ भी इसमें आवेदन कर सकेंगी ?

जी हाँ, प्रसूति योजना का लाभ केवल मध्य प्रदेश की ही स्थाई महिलाओं को प्रदान किया जाएगा, परन्तु अन्य राज्य की महिलाएँ इस योजना के लाभ हेतु आवेदन नहीं कर सकेंगी।

हेल्पलाइन नंबर

जैसे कि इस लेख में हमने आपको Prasuti Sahayta Yojana 2022 से जुडी समस्त जानकारी प्रदान की है लेकिन अगर आपको योजना से जुडी कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में मैसेज करके पूछ सकते है। आशा करते है आपको हमारे द्वारा इस लेख में दी गयी जानकारी से सहायता मिलेगी।

The post प्रसूति सहायता योजना : गर्भावस्था में 16000 रूपये देगी सरकार, ऐसे करें आवेदन appeared first on CRPF India.

You may like these posts

-->