Sukanya Samriddhi Scheme 2021 Details, Calculator | सुकन्या समृद्धि योजना

Sukanya Yojana 2021 | Sukanya Samriddhi Account | Sukanya Samriddhi Yojana Calculator | Sukanya Samriddhi | Sukanya Yojana Details | Sukanya Samriddhi Scheme | Sukanya Samriddhi Calculator | Sukanya Yojana Calculator

Sukanya Samriddhi Yojana 2021 - इस योजना को बेटी बचाओ बेटी पढाओ अभियान के एक भाग के रूप में शुरू किया गया था, सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार द्वारा एक छोटी बचत योजना है। यह योजना भारत में महिलाओं और बालिकाओं के कल्याण के उद्देश्य में लॉन्च की गई है। 250 रू. के न्यूनतम योगदान के साथ, योजना के आवेदक 8.4% के बेहतर रिटर्न और इसमें निवेश करने पर आयकर अधिनियम (1961) की धारा 80 C के तहत अधिकतम 1.5 लाख रू. तक की टैक्स छूट प्राप्त कर सकते हैं।

Sukanya Samriddhi Yojana Account

Sukanya Samriddhi Yojana 2021 

सुकन्या समृद्धि योजना भारत सरकार की एक छोटी बचत योजना है जो खास तौर पर बच्चियों के लिए बनाई गयी है. यह बेटी बचाओ-बेटी पढाओ कैंपेन के एक हिस्से के तौर पर लांच की गयी है.यह स्कीम बच्चियों की पढ़ाई और शादी के खर्च को पूरा करने के हिसाब से लाई गयी है.

  • सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 22 जनवरी 2015 को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के तहत की गई है. 
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत देश की बेटियों के लिए बचत खाता खोला जाता है. 
  • 10 साल तक की उम्र की बच्चियों के लिए चलाई जा रही स्कीम के तहत उनकी शिक्षा से लेकर शादी तक में मदद की जाती है. 
  • पोस्ट ऑफिस की ओर से संचालित यह स्कीम बेहद कम समय में काफी लोकप्रिय हुई है. इस योजना का खाता किसी भी निकटतम पोस्ट ऑफिस या बैंक में बेटियों के नाम से आवेदन देकर खोला जा सकता है. 

सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ कैसे लें और आवेदन के समय कौन कौन से दस्तावेज चाहिए. उसकी पूरी जानकारी निचे दी गयी है. फिर भी आप अधिक जानकारी के लिए ऑफिशियल वेबसाइट को विजिट कर सकते हैं.

Sukanya Samriddhi Scheme Calculator Chart

Sukanya Samriddhi Yojana Calculator

Sukanya Samriddhi Yojana Calculator : आप इस कैलकुलेटर की मदद से वास्तव में यह जान सकते हैं कि अपनी बेटी की पढ़ाई-शादी के वक्त आप कितनी रकम जुटा सकते हैं.

Sukanya Samriddhi Yojana कैलकुलेटर वास्तव में आपकी तरफ से दी गयी जानकारी के हिसाब से आपके निवेश की अनुमानित मैच्योरिटी वैल्यू के बारे में बताता है. आप जिस दिन यह Sukanya Samriddhi Yojana (SSY) अकाउंट खोलते हैं उसके 21 साल बाद यह निवेश मैच्योर होता है.
Sukanya Samriddhi Yojana Calculator
Sukanya Samriddhi Yojana के नियमों के मुताबिक आपको बेटी के 15 साल की उम्र का होने तक आपको हर साल SSY अकाउंट में निवेश करना है. यह कैलकुलेटर यह मानकर आपके निवेश पर परिपक्वता की रकम का अनुमान लगाता है कि आपने हर साल तय रकम निवेश किया है.

बच्ची के 15 साल का होने के बाद और 21 साल की उम्र पूरी करने तक आपको SSY अकाउंट में कोई रकम नहीं जमा करना है. आपने निवेश पर हालांकि ब्याज इस अवधि में भी मिलता रहेगा. इस अवधि में आपके SSY अकाउंट में किये गए निवेश पर ब्याज की गणना भी कैलकुलेटर खुद कर लेता है.

सुकन्या समृद्धि योजना (SSY) कैलकुलेटर कैसे काम करता है?

सभी आवश्यक जानकारियों के बाद, कैलकुलेटर उस मूल्य को कैल्कुलेट करता है जिसे मैच्योरिटी पर दिया जाएगा। प्रक्रिया को प्रभावी ढंग से पूरा करने के लिए, 14 साल के लिए एक वर्ष में कम से कम 1 योगदान अनिवार्य है।

मैच्योरिटी राशि का कैल्कुलेशन

यहां मासिक और वार्षिक योगदान को स्थिर रखते हुए मैच्योरिटी राशि की गणना की गई है।  
  • योजना अवधि के 21 वर्षों के दौरान ब्याज दर 8.4% है
  • मासिक योगदान हर महीने की 1 तारीख को किया जाता है
  • 1 अप्रैल को हर साल वार्षिक योगदान दिया जाता है
  • मासिक और वार्षिक योगदान के लिए राशि निर्धारित है

Sukanya Samriddhi Yojana कैल्कुलेशन फॉर्मूला

चूँकि सुकन्या समृद्धि योजना एक लॉन्ग टर्म निवेश है, इसमें कुछ निश्चित लाभ हैं जो आवेदकों के लिए उपलब्ध हैं। संबंधित राशि का कैल्कुलेशन करने के लिए उपयोग किया जाने वाला फॉर्मूला निम्नलिखित है-
A=P(1+r/n)^n
इस सूत्र में, A = चक्रवृद्धि ब्याज, P = मूल निवेश राशि, R = ब्याज दर, N = एक वर्ष में ब्याज में चक्रवृद्धि होती है, T = वर्षों की संख्या (अवधि)

उदाहरण के रूप में राशि की एक लिस्ट निम्नलिखित दी गई है जो आवेदक को 21 वर्ष की योजना के कार्यकाल पूरा होने के बाद प्राप्त होती है-

राशि (वार्षिक) (₹ में)

राशि(14 वर्ष) (₹ में)

मेच्योरिटी राशि (21 वर्ष) (₹ में)

1000

14000

46,821

2000

28000

93,643

5000

70000

2,34,107

10000

140000

4,68,215

20000

280000

9,36,429

50000

700000

23,41,073

100000

1400000

46,82,146

125000

1750000

58,52,683

150000

2100000

70,23,219

सुकन्या समृद्धि योजना कैल्कुलेटर का उपयोग करने के लाभ

सुकन्या समृद्धि योजना के आवेदक योजना अवधि के अंत में मैच्योरिटी राशि का कैल्कुलेशन करने के लिए SSY कैलकुलेटर का उपयोग कर सकते हैं। कैल्कुलेटर यह कैल्कुलेट करने में मदद करता है कि योजना के साथ कितनी बचत की जा सकती है।
  • मैच्योरिटी के बाद जमा की गई राशि कैल्कुलेट करने में मदद करता है 
  • आवेदकों को मासिक के साथ-साथ वार्षिक आधार पर मैच्योरिटी राशि देखने में मदद करता है
  • मैन्युअल कैल्कुलेशन के दौरान की गई गलतियों को दूर करता है
Sukanya Samriddhi Yojana Online form

Sukanya Samriddhi Yojana 2020 Online form

  • इस स्कीम को बैंक या पोस्ट ऑफिस में कहीं भी खोला जा सकता है. सुकन्या समृद्धि योजना में अभी 7.6 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है.
  • इसमें 250 रुपए में खाता खोला जा सकता है. सुकन्या समृद्धि योजना के तहत एकाउंट किसी बच्ची के जन्म लेने के बाद 10 साल की उम्र से पहले ही खोला जा सकता है.
  • लड़की के 21 साल का होने या लड़की की शादी होने के बाद एकाउंट मैच्योर हो जाएगा और आपको पूरा पैसा ब्याज सहित मिल जाएगा.
  • खाता खोलने से 5 साल के बाद बंद किया जा सकता है. यह भी कई परिस्थितियों में किया जा सकता है, जैसे कोई खतरनाक बीमारी होने पर या अगर किसी दूसरे कारण से खाता बंद किया जा रहा हो तो इसकी इजाजत दी जा सकती है, लेकिन उस पर ब्याज सेविंग एकाउंट के हिसाब से मिलेगा.
  • सुकन्या समृद्धि योजना खाते से 18 साल की उम्र के बाद बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए खर्च के मामले में 50 फीसदी तक रकम निकाली जा सकती है.
  • इसमें खाता खोलने के लिए बच्ची का बर्थ सर्टिफिकेट देना जरूरी है. इसके साथ ही बच्ची और अभिभावक के पहचान और पते का प्रमाण भी देना होता है.
  • यह खाता देशभर में कहीं भी ट्रांसफर कराया जा सकता है, अगर खाताधारक खाता खोलने की मूल जगह से कहीं और शिफ्ट हो गया हो. इसमें लिए आपको कोई शुल्क नहीं देना होता.
  • अगर खाता 21 साल पूरा होने से पहले बंद कराया जा रहा है तो खाताधारक को यह एफिडेविट देना पड़ेगा कि खाता बंद करने के समय उसकी उम्र 18 साल से कम नहीं है.
  • चालू वित्त वर्ष में सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अधिकतम 1.5 लाख रुपए जमा कराए जा सकते हैं.
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत पैसा लगाने पर आयकर कानून की धारा 80C के तहत टैक्स छूट का लाभ लिया जा सकता है.

सुकन्या समृद्धि योजना प्रदान करने वाले बैंक/ NBFC

भारतीय रिजर्व बैंक ने SSY के प्रदाताओं के रूप में निम्नलिखित बैंकों को मंजूरी दी है:
  • ऐक्सिस बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • विजया बैंक
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • इन्डियन बैंक
  • IDBI बैंक
  • ICICI बैंक
  • यूको बैंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • देना बैंक
  • केनरा बैंक
उपर दिए गए बैंकों के अलावा, इस योजना के लिए आवेदन फॉर्म डाकघरों से लिए जा सकते हैं। साथ ही, इच्छुक आवेदक अपने फॉर्म डाउनलोड करें और योजना के लिए नामांकित होने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करें।

Sukanya Samriddhi Yojana 2020 कैसे करें आवेदन

  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलने के लिए आपको नज़दीकी पोस्ट ऑफिस इसका एक फॉर्म लेना होगा. 
  • इसमें आप अपना और बच्‍ची का नाम लिखें. साथ ही अन्य जरूरी जानकारियां भरें. 
  • फॉर्म भरने के बाद इसके साथ अपने पहचान-पत्र, एड्रेस प्रूफ, आधार कार्ड और बेटी का नाम, उसका जन्‍म प्रमाण-पत्र आदि की फोटोकॉपी साथ में लगाकर जमा करें. 
  • जानकारियों के सही पाए जाने पर आप इस योजना का लाभ ले सकेंगे. आप हर महीने अपनी सुविधा के अनुसार खाते में पैसा जमा करते रहें.

सुकन्या समृद्धि योजना दस्तावेज़ (पात्रता )

  • इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवाने के लिए कन्या की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए.
  • आधार कार्ड
  • बच्चे और माता पिता की तस्वीर
  • बालिका जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण
  • जमा कर्ता(माता -पिता या क़ानूनी अभिभावक ) यानि पैन कार्ड ,राशन कार्ड ,ड्राइविंग लाइसेंस.

सुकन्या समृद्धि योजना SSY में अभिभावक अपनी बेटी के नाम से खोले गए सुकन्या समृद्धि खाते में न्यूनतम 250 रुपए प्रतिवर्ष और अधिकतम 1.5 लाख रुपए तक निवेश कर सकते है. निवेश की गयी इस राशि पर केंद्र सरकार द्वारा अभिभावकों को अधिकतम ब्याज दर से ब्याज दिया जाता है. और बेटी की उम्र 18 वर्ष होने तक इस सुकन्या समृद्धि खाते ( Sukanya Samriddhi Account ) के संचालन का अधिकार अभिभावकों के पास ही होता है.

बेटी की उम्र 18 वर्ष होने पर अभिभावक इस सुकन्या समृद्धि खाते ( Sukanya Samriddhi Account ) से बेटी की शिक्षा या शादी के लिए 50% राशि निकाल सकते है. जबकि खाते की उम्र 21 वर्ष होने पर अभिभावक इस सुकन्या समृद्धि खाते से पूर्ण राशि निकाल सकते है.

सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश के लाभ

बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना के हिस्से के रूप में शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना निवेशकों को कई प्रकार के लाभ प्रदान करती है। बालिकाओं के लाभ के लिए इस योजना के कुछ प्रमुख लाभ इस प्रकार हैं:

  • आयकर धारा 80C के तहत सालाना 5 लाख रु. तक टैक्स में छूट का लाभ प्रदान करता है
  • एक वर्ष में न्यूनतम 250 रु. अधिकतम 5 लाख रु. प्रतिवर्ष कर सकते हैं
  • भारत सरकार द्वारा समर्थित गारंटी रिटर्न साधन (सम्‍प्रभु गारन्‍टी)
  • सरकार समर्थित अन्‍य टैक्स बचत योजनाओं जैसे PPF की तुलना में उच्‍च निश्चित दर रिटर्न (वर्तमान में 5% प्रतिवर्ष वित्‍तीय वर्ष 2018-19 की चौथी तिमाही के अनुसार।)
  • सुकन्या समृद्धि खाता देश के एक भाग से दूसरे भाग में आसानी से ट्रान्सफर ह सकता है

Sukanya Samriddhi Yojana 2020 खाते के लिए योग्यता

  • सुकन्या समृद्धि योजन के अंतर्गत केवल बेटियों का ही खाता खोला जा सकता है.
  • यह सुकन्या समृद्धि खाता केवल 10 वर्ष से कम उम्र के बेटियों के नाम से ही खोला जा सकता है.
  • यदि बेटी गोद ली गयी है तब भी अभिभावक उसके नाम से खाता खुलवा सकते है.
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अभिभावक किसी भी पोस्ट ऑफिस या बैंक में SSY खाता खुलवा सकते है.
  • इस SSY के अंतर्गत खोले गए सुकन्या समृद्धि खाते में अभिभावक न्युनतम 250 रुपए प्रतिवर्ष और अधिकतम एक लाख रुपए प्रतिवर्ष जमा कर सकते है.
  • बेटी की उम्र 18 वर्ष होने पर अभिभावक इस सुकन्या समृद्धि खाते से 50% राशि बिना किसी शर्त के निकाल सकते है.
  • खाते की उम्र 21 वर्ष होने पर इस खाते से पूरी राशि निकली जा सकती है.
  • यह योजना केवल भारतीयों के लिए ही है. यदि कोई बेटी खाता खुलवाने के बाद NRI हो जाती है. तो सरकार द्वारा उसका सुकन्या समृद्धि योजना खाता बंद कर दिया जाता हैं.

Official Website : www.nsiindia.gov.in

Source : EconomicsTimes, PaisaBazar.com

You may like these posts