IAEA क्या है? अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (International Atomic Energy Agency – IAEA)

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (International Atomic Energy Agency – IAEA) एक स्वायत्त विश्व संस्था है, जिसका उद्देश्य विश्व में परमाणु ऊर्जा का शांतिपूर्ण उपयोग सुनिश्चित करना है। यह परमाणु ऊर्जा के सैन्य उपयोग को किसी भी प्रकार रोकने में प्रयासरत रहती है। इस संस्था का गठन 21 जुलाई, 1957 को हुआ था। इसका मुख्यालय वियना, आस्ट्रिया में है।
IAEA full form - International Atomic Energy Agency

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (International Atomic Energy Agency – IAEA) 

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (International Atomic Energy Agency – IAEA) आणविक विषयों के लिए विश्व की सबसे प्रधान एजेंसी है. 

अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एंजेंसी (IAEA) परमाणु क्षेत्र में वैज्ञानिक और तकनीकी सहयोग के लिए विश्व का केंद्रीय अंतर सरकारी मंच है। 

इसका गठन 29 जुलाई, 1957 में आविष्कारों द्वारा उत्पन्न गहरी आशंकाओं एवं उम्मीदों तथा परमाणु प्रौद्योगिकी के विविध उपयोग के जवाब में किया गया था। यह परमाणु ऊर्जा के सैन्य उपयोग को किसी भी प्रकार रोकने में प्रयासरत रहती है। 

संस्था ने 1986 में रूस के चेरनोबल में हुई नाभिकीय दुर्घटना के बाद अपने नाभिकीय सुरक्षा कार्यक्रम को विस्तार दिया है।
International Atomic Energy Agency – IAEA logo
आईएईए सीधे सीधे संयुक्त राष्ट्र संघ के अधीन नहीं है, लेकिन यह संयुक्त राष्ट्र महासभा और सुरक्षा परिषद को अपनी रिपोर्ट देती है। इस संस्था के मुख्यत: तीन अंग हैं-
  • राज्यपालों का बोर्ड (बोर्ड ऑफ गर्वनर्स),
  • सामान्य सम्मेलन (जनरल कांफ्रेंस) और
  • सचिवालय (सेकेट्रेरिएट)
बोर्ड ऑफ गर्वनर्स में सदस्यों की संख्या 35 होती है, जिनमें से 13 सदस्य पिछले बोर्ड से लिए जाते हैं, जबकि शेष 22 सदस्यों का चुनाव सामान्य सम्मेलन द्वारा होता है। बोर्ड ऑफ गर्वनर्स का मुख्य कार्य आईएईए की नीतियों का निर्धारण करना है।

संस्था अपने बजट का प्रस्ताव जनरल कांफ्रेस के सामने रखती है। इसके अलावा इसे महासचिव का भी चुनाव करना होता है। जनरल कांफ्रेंस की प्रत्येक वर्ष सितंबर माह में बैठक होती है, जिसमें बोर्ड ऑफ गर्वनर्स द्वारा प्रस्तावित बजट और कार्यो की सहमति प्रदान की जाती है। सचिवालय के अध्यक्ष महासचिव होते हैं। यह जनरल कांफ्रेंस और बोर्ड ऑफ गर्वनर्स द्वारा लाए गए प्रस्तावों को कार्यरूप में लाने के लिए उत्तरदायी होता है। इस संस्था के तीन मुख्य काम हैं- सुरक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी एवं सुरक्षा व संपुष्टि.

आईएईए (IAEA) के अध्यक्ष कौन है?

आईएईए (IAEA) के अध्यक्ष राफेल मारियानो ग्रॉसी है। 30 अक्टूबर, 2019 को अर्जेंटीना के राफेल मारियानो ग्रॉसी (Rafael Mariano Grossi) आईएईए बोर्ड द्वारा अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एंजेंसी (IAEA) का नया महानिदेशक नियुक्त किया गया। आईएईए की सामान्य सभा द्वारा मंजूरी मिलने पर वह इस एजेंसी के 6वें महानिदेशक होंगे। इस पद पर उनका 4 वर्षों का कार्यकाल 3 दिसंबर, 2019 से प्रारंभ होगा। इस पद पर वह जापान के युकिया अमानो का स्थान लेंगे, जिनका 18 जुलाई, 2019 को निधन हो गया था।

अन्तर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा अभिकरण का मुख्यालय कहाँ है?

अन्तर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा अभिकरण का मुख्यालय वियना (ऑस्ट्रिया) में है। इसके सबसे पहले महासचिव डब्ल्यू स्टर्लिंग कोल (1957-1961) थे।.

अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (International Atomic Energy Agency – IAEA) का उद्देश्य

  • इसकी स्थापना 1957 में संयुक्त राष्ट्र के एक अवयव के रूप में परमाणु के शान्तिपूर्ण प्रयोग पर बल देने के लिए की गई थी.
  • इसका उद्देश्य है परमाणु तकनीकों के सुरक्षित, निरापद (secure) एवं शान्तिपूर्ण उपयोग को बढ़ावा देना.
  • यह एजेंसी परमाणु के सैनिक उपयोग पर रोक लगाती है.
  • IAEA संयुक्त राष्ट्र महासभा तथा सुरक्षा परिषद् के प्रति उत्तरदायी होती है.

You may like these posts