-->

Essay on uses of internet in hindi | इंटरनेट एक वरदान और अभिशाप पर निबंध

‘इंटरनेट’ शब्द को आज सभी लोग जानते हैं। बच्चे हों या बड़े सभी लोग इसका प्रयोग करना अच्छी तरह से जानते हैं। अगर सही अर्थों में देखा जाए तो आज इंटरनेट हम सभी के लिए जीने की वजह बन चुका है। इंटरनेट ने आज हमारी बहुत सी मुश्किलों को आसान कर दिया है जिसकी वजह से हमें हर काम बहुत आसान लगता है।

इंटरनेट मनुष्य को विज्ञान द्वारा दिया गया एक सर्वश्रेष्ठ उपहार है। इंटरनेट अनंत संभावनाओं का साधन है। इंटरनेट के माध्यम से हम कोई भी सूचना, चित्र, वीडियो आदि दुनिया के किसी भी कोने से किसी भी कोने तक पल भर में भेज सकते हैं।



100 साल पहले किसी ने भी यह नहीं सोचा होगा कि इंसान खुद ही किसी ऐसी चीज़ की रचना कर देगा, जिससे दुनिया की तमाम सारी जानकारी एक ही स्थान पर बहुत ही आसानी से मिल जाएगी और दुनिया के लगभग सभी देश आपस में जुड़े होंगे।.

इंटरनेट हमारे आज के जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण हो गया है। आज के समय में इंटरनेट दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे लोकप्रिय नेटवर्क बन चुका है। इंटरनेट को आधुनिक और उच्च तकनीकी विज्ञान का आविष्कार भी माना जाता है। दुनिया भर के सभी नेटवर्क इंटरनेट से जुड़े हुए हैं इस तरह से हम इसे नेटवर्कों का नेटवर्क भी कह सकते हैं।

इंटरनेट का अर्थ

इंटरनेट आई. टी. के क्षेत्र में क्रांति लाने वाला विश्व का सबसे बलशाली और सबसे बड़ा नेटवर्क है। इसे संक्षिप्त में नेट भी कहा जाता है क्योंकि इंटरनेट एक दूसरे से जुड़े बहुत सारे कम्प्यूटरों का जाल है जो कि उपग्रहों, केवल तंतु प्रणालियों, एल.ए.एन, और वी.ए.एन प्रणालियों तथा टेलीफोनों के जरिए सम्पूर्ण विश्व के करोड़ों कम्प्यूटर्स एवं उपनेटवर्क्स को आपस में जोड़ता है।

दूसरे शब्दों में कहे तो संसाधनों को साँझा करने अथवा सूचनाओं का आदान प्रदान करने के लिए टी.सी.पी/आई.पी प्रोटोकॉल के द्वारा दो अथवा कई कम्प्यूटर्स को एक साथ जोड़कर अंत:सम्बन्ध स्थापित करने की प्रक्रिया को इंटरनेट कहते हैं तथा इनके बीच की साँझा करने की प्रकिया को कंप्यूटर नेटवर्क्स कहते है। कंप्यूटर नेटवर्क्स के अनेकों रूप हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख है एल.ए.एन, इंटरनेट एवं इंट्रानेट।

इंटरनेट क्रांति [Internet Revolution]

जिस प्रकार देश में फसलों का उत्पादन बढ़ाने के लिए ‘हरित क्रांति’ आई थी, दुग्ध उत्पादन के क्षेत्र को बढ़ाने के लिए ‘श्वेत क्रांति’ चलाई गयी, उसी प्रकार इस सदी में जिस प्रकार से इंटरनेट का प्रयोग किया जाता हैं तो ऐसा लगता हैं, मानो वर्तमान समय ‘इंटरनेट क्रांति’ का है क्योंकि इसके क्षेत्र में नित नये आविष्कार और सुविधाएँ जिस गति से आ रही हैं, तो इसका विकास सुदूर क्षेत्रों तक भी हो जाएगा. इसके अलावा 4G और 5G जैसी सुविधाएँ भी इस क्षेत्र में क्रांति का आभास कराती हैं.
 

इंटरनेट का इतिहास एवं आविष्कार

पहले के समय में जब लोगों के पास इंटरनेट की सुविधा नही थी, तो उन्हें कई प्रकार के सामान्य कार्यों के लिये भी कई घंटों तक लाइनों में लगे रहना पड़ता था जैसे रेलवे का टिकट लेने, बिजली का बिल जमा करने तथा आवेदन पत्र जमा करने जैसे कार्यों के लिए काफी दिकक्तों का सामना करना पड़ता था। लेकिन आधुनिक समय में लोग बस एक क्लिक से टिकट की बुकिंग कर सकते हैं, साथ ही एक सॉफ्ट कॉपी अपने मोबाईल फोन में भी रख सकते हैं।

इंटरनेट अपने आप में कोई अविष्कार नहीं है। इंटरनेट टेलीफोन, कंप्यूटर व दूसरी तकनीक को इस्तेमाल करके बनाया गया एक ऐसा जाल है जिसमें सूचना व तकनीक का साँझा  उपयोग किया गया है। इंटरनेट का निर्माण यूनाईटेड के रक्षा विभाग ने लगभग सन् 1960 को अपरानेट के नाम से शुरू किया था।


इसे सबसे पहले सन् 1969 में अमेरिका के प्रतिरक्षा विभाग द्वारा एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी नेटवर्क नाम गुप्त आंकड़ों और सूचनाओं को दूर दराज के विभिन्न राज्यों तक भेजने व प्राप्त करने में लाया गया था। हमारे भारत देश में इंटरनेट 80 दशक में आया था।

1969 में टिम बर्नर्स ली ने इंटरनेट का आविष्कार किया। इसे सबसे पहले सन् 1969 में अमेरिका के प्रतिरक्षा विभाग द्वारा एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट एजेंसी नेटवर्क के गुप्त आंकड़ों और सूचनाओं को दूर दराज़ के विभिन्न राज्यों तक भेजने व प्राप्त करने में लाया गया था। हमारे भारत देश में इंटरनेट 1980 के दशक में आया था।

इंटरनेट के सुगम इस्तेमाल को एप्पल नाम की कंपनी ने सन् 1984 में कंप्यूटर में फाइल फोल्डर और ग्राफिक्स का इस्तेमाल किया जिसके कारण आज इंटरनेट चलाना बहुत आसान है अगर एप्पल कंपनी नहीं होती तो आज भी हमें कोडिंग करके ही इंटरनेट का इस्तेमाल करना पड़ता।

इंटरनेट का दायरा 

कंप्यूटर का विकास होने के बाद उनमें जमा आंकड़ों और सूचनाओं के आदान-प्रदान की आवश्यकता अनुभव की गयी और इसी अनुभव ने विभिन्न विश्वविद्यालयों, सरकार द्वार प्रायोजित कंप्यूटर नेटवर्क तथा शोध व शिक्षा के लिए इंटरनेट का विकास किया गया। धीरे-धीरे इंटरनेट के विकास के साथ इसके फायदे और महत्त्व हर क्षेत्र में दिखाई देने लगे और यह तकनीक पूरी दुनिया में इंटरनेट क्रांति के रूप में फैल गया।
इंटरनेट की दुनिया में, यह कोई ज़रुरी नहीं है कि कोई व्यक्ति अपने व्यापारिक या निजी मुलाकात के लिए घंटों यात्रा करके किसी स्थान पर जाए। आज के समय में हम वीडियों कॉन्फ्रेंस, कॉलिंग, स्काईप या दूसरे तरीकों से अपनी जगह पर रह कर ही किसी भी व्यापारिक या निजी बैठक का हिस्सा बन सकते हैं।

इंटरनेट के प्रारंभिक चरण में इसकी स्पीड के.बी.पी.एस में होती थी, फिर धीरे-धीरे एम.बी.पी.एस और अब जी.बी.पी.एस में इसकी स्पीड होती है, जो की बहुत तेज़ी से सूचनाओं का आदान-प्रदान करने में काम करती है।

इंटरनेट से सम्बद्धत्ता के स्तर

इंटरनेट को देखने और उससे सूचना एकत्रित करने के कार्य को सर्फिंग (Surfing) कहते है। वैसे तो सर्फिंग करने का तरीका कठिन नहीं है परन्तु सूचनाएँ इंटरनेट पर प्रविष्ट करने के लिए सॉफ्टवेयर बनाने की आवश्यकता होती है, लेकिन सॉफ्टवेयर बनाना काफी कठिन कार्य है।
इंटरनेट की अपनी एक दुनिया है और इस दुनिया से सम्बद्धता (Connectivity) करने के तीन स्तर होते हैं।
  • प्रथम स्तर पर उपभोक्ता केवल इंटरनेट पर सूचनाएँ या जानकारी देख सकता है।
  • द्वितीय स्तर पर उपभोक्ता इंटरनेट का एक आंशिक भाग बन जाता है और सूचनायें एकत्रित करने के अलावा वह अपनी वेबसाइट भी बना सकता है।
  • तृतीय स्तर पर उपभोक्ता स्वयं इंटरनेट प्रणाली का मुख्य हिस्सा बन जाता है।

इंटरनेट के उपयोग और आवश्यकता [Uses & Needs of Internet]

आज हम जिस तरफ नज़र डालें, उस ओर हमें इंटरनेट के उपयोग और आवश्यकता अनुभव होती हैं. इस प्रकार इसका महत्व बहुत अधिक हैं, जिन्हें कुछ बिन्दुओं में निम्न प्रकार दर्शाया जा सकता हैं -:

शिक्षा के क्षेत्र में आवश्यकता [Uses of Internet in Education]

इंटरनेट का शिक्षा के विकास में बहुत योगदान हैं. इसके लिए इसे हम निम्न प्रकार से समझ सकते हैं -:

क्रमांकशिक्षा का क्षेत्रइंटरनेट से प्राप्त सहायता
1.परीक्षा देनाGMAT, GRE, SAT, बैंकिंग एग्जाम और विभिन्न एंट्रेंस एग्जाम आजकल ऑनलाइन ही लिए जाते हैं.
2.ट्रेनिंग प्राप्त करनासॉफ्टवेयर, नेटवर्किंग, वेब टेक्नोलॉजी, कंपनी सेक्रेटरी, आदि कोर्सेज के लिए ऑनलाइन ट्रेनिंग की सुविधाएँ इंटरनेट के द्वारा ही उठाई जा सकती हैं.
3.दूरस्थ शिक्षा
[Distance Learning]
विभिन्न विश्वविद्यालयों [यूनिवर्सिटी] द्वारा घर बैठे शिक्षा प्राप्त करने का अवसर आपको इंटरनेट द्वारा ही प्राप्त होता हैं.

चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में [Internet uses for Medical field]

इंटरनेट के माध्यम से चिकित्सा क्षेत्र में भी बहुत आसानी हो गयी हैं, जैसे -:
किसी मरीज का रिकॉर्ड आसानी से मिल जाता हैं और उसके उपचार में सुविधा होती हैं.
हॉस्पिटल का मैनेजमेंट आसान हो जाता हैं.
विदेशों के चिकित्सकों द्वारा घर बैठे कम खर्च में परामर्श प्राप्त करना संभव हो पाया हैं.
नये आविष्कारों में भी मदद मिली हैं, आदि.

विस्तृत रूप से जानकारी प्राप्त करना [Large volume of Information]

इंटरनेट का उपयोग करके, हम किसी भी विषय के संबंध में विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, फिर चाहे वो क्षेत्र शिक्षा, चिकित्सा, तकनीकी अथवा कोई और क्षेत्र क्यों ना हो. इन सभी क्षेत्रों के भूतकालीन और वर्तमान समय की जानकारी आंकड़ों के साथ उपलब्ध करने का सबसे आसान साधन हैं – इंटरनेट. शिक्षा का महत्व पढने के लिए यहाँ क्लिक करें|
इस क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण कदम हैं – सूचना का अधिकार [RTI एक्ट]. इसमें हमे जानकारी लिखित रूप के साथ – साथ इंटरनेट के माध्यम से भी प्राप्त हो सकती हैं.

खबरों की जानकारी [Information about News] 

संसार के सभी समाचार पत्र, मेग्ज़िन्स और जर्नल्स इंटरनेट पर आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं. आपको जिस भी संबंध में जानकारी चाहिए, वह टाइप कीजिये और आपके सामने वह खबर अथवा वह जर्नल उपलब्ध हो जाएगा.

ऑनलाइन अथवा नेट बैंकिंग (Internet online banking)

यदि आज हमें बैंक का कोई काम हैं, तो उसके लिए हमें बैंक में जाकर लाइन में खड़े रहकर प्रतीक्षा करने की जरुरत नहीं हैं. हमें जरुरत हैं तो बस इस बात की कि हम ऑनलाइन बैंकिंग या नेट बैंकिंग की सुविधा अपने खाते [अकाउंट] में शुरू कराए और फिर इंटरनेट के माध्यम से हमारा बैंक संबंधी कोई भी काम, जैसे -: पैसे जमा करना, फण्ड ट्रान्सफर करना, बिल जमा करना, रिचार्ज करना, आदि घर बैठे आसानी से हो जाएगा.

ई – कॉमर्स (E-Commerce)

अब तो इंटरनेट का उपयोग बहुत ही बड़े स्तर पर व्यापार व्यवसाय में भी होने लगा हैं. बड़ी – बड़ी कम्पनियाँ अपने विभिन्न देशों में फैले बिज़नेस के फैसले लेने के लिए वीडियो कांफ्रेंसिंग करती हैं. इसकी उपयोगिता और सुविधा को देखते हुए इसे क़ानूनी मान्यता भी प्राप्त हैं. यदि हम कुछ बड़ी ई-कॉमर्स कंपनियों की बात करें, तो आज इनमें सबसे बड़ी कंपनी हैं – फ्लिपकार्ट, जिसे इसी क्षेत्र की एक दूसरी कंपनी अमेज़न द्वारा कड़ी टक्कर दी जा रही हैं.

एम –कॉमर्स [Mobile Commerce]

कंप्यूटर पर इंटरनेट का उपयोग तो बहुत पुराना हैं, परन्तु मोबाइल पर इंटरनेट की सुविधाओं की शुरुआत एक या दो दशक पूर्व ही हुई हैं. आज कंप्यूटर भले ही किसी के पास ना हो, परन्तु मोबाइल ना हो, ऐसा संभव नहीं हैं. मोबाइल के फायदे एवं नुकसान जानने के लिए यहाँ क्लिक करें| अतः मोबाइल के साथ इंटरनेट को जोड़कर इन दोनों ही व्यवसायों ने एक – दूसरे को कॉम्प्लीमेंट करते हुए अपना क्षेत्र बढ़ाया हैं. अपनी इस प्रकार बढ़ती उपयोगिता के कारण इन कम्पनियों को तो फायदा हुआ ही, साथ ही अंतिम उपभोक्ता [End Users] को भी बहुत फायदा हुआ हैं. इन कंपनियों द्वारा भी मोबाइल के लिए स्पेशल एप्स डिज़ाइन किये गये हैं और हर वो काम जो कंप्यूटर इंटरनेट द्वारा हो सकता था, अब स्मार्ट फोन पर मोबाइल इंटरनेट के द्वारा भी हो सकता हैं. कंप्यूटर पर लेख यहाँ पढ़ें|

संचार का साधन [Mode of Communication]

संसार का कोई व्यक्ति चाहे कहीं भी क्यों ना रहता हो, यदि हमें उससे संपर्क स्थापित करना हैं अथवा उस तक कोई सन्देश पहुँचाना हैं या उससे बातचीत करना हैं, कोई मीटिंग करनी हैं तो वो इंटरनेट के माध्यम से संभव हैं. इसके लिए ई–मेल भेजकर संदेश भेजना, स्काइप द्वारा वीडियो कालिंग करना, फेसबुक पर चैटिंग के माध्यम से बातें करना, व्हाट्स एप्प आदि जैसी सुविधाएँ उपलब्ध हैं.

मनोरंजन का साधन [Entertainment]

इंटरनेट का प्रयोग मनोरंजन के लिए भी व्यापक रूप से किया जाता हैं. इंटरनेट पर पूरे विश्व की फ़िल्में, सीरियल, जोक्स, कंप्यूटर गेम्स, सोशल मिडिया और न जाने क्या – क्या हमारे मनोरंजन के लिए उपलब्ध हैं.
ऑनलाइन फ्रीलांसर –: इंटरनेट के माध्यम से एक बहुत अच्छा अवसर लोगों को प्राप्त हुआ हैं, जिससे वे घर बैठे इंटरनेट का उपयोग करके अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन कर सकते हैं और इसके साथ ही अपने हुनर के माध्यम से पैसा भी कमा सकते हैं.

डाटा शेयरिंग

इंटरनेट के माध्यम से आप किसी भी व्यक्ति या संस्था या किसी कंपनी को आवश्यक डाटा या कोई फाइल भेज सकते हैं. वर्क फ्रॉम होम जैसी कार्य प्रणालियों में इसी के माध्यम से कार्य किया जाया हैं.
ऑनलाइन बुकिंग –: आज अगर आपको कही जाना हैं, तो आप उस स्थान पर पहुंचकर बुकिंग करने की बजाय इंटरनेट के द्वारा बुकिंग करके जाना अधिक पसंद करते हैं, इससे आपके समय और साधन की तो बचत होती ही हैं, साथ ही आप अनावश्यक रूप से होने वाली परेशानियों से भी बच जाते हैं. इनमें ऑनलाइन ट्रेन और बस के टिकट की बुकिंग, फिल्म आदि के शो की बुकिंग, होटल बुकिंग, आदि शामिल हैं.


इंटरनेट एक वरदान [Benefits of  Internet]

  • इंटरनेट की सहायता से हम किसी भी प्रकार की जानकारी और किसी भी सवाल का हल कुछ ही पलों में प्राप्त कर सकते हैं।
  • इंटरनेट के माध्यम से दुनिया के किसी भी कोने में बैठे किसी भी व्यक्ति से बिना शुल्क के घंटों तक बातें कर सकते हैं।
  • इंटरनेट एक वर्ल्ड वाइड वेब है, जिसकी सहायता से हम दुनिया के किसी भी कोने में अपनी मेल या जरूरी दस्तावेजों को पलक झपकते ही भेज सकते हैं और प्राप्त कर सकते हैं।
  • इंटरनेट मनोरंजन का एक बहुत अच्छा माध्यम है। इंटरनेट के माध्यम से संगीत, गेम्स, फिल्म आदि को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के डाऊनलोड कर सकते हैं और अपनी बोरियत को दूर कर सकते हैं।
  • इंटरनेट की सहायता से बिजली, पानी और टेलीफोन के बिल का भुगतान घर पर बैठे बिना किसी परेशानी के और बिना लंबी लाईनों में खड़े हुए किया जा सकता है। इंटरनेट से हमें घर बैठे रेलवे टिकेट बुकिंग, होटल रिसर्वेशन, ऑनलाइन शौपिंग, ऑनलाइन पढाई, ऑनलाइन बैंकिंग, नौकरी, खोज आदि सुविधाएँ मिल जाती हैं।
  • इंटरनेट के माध्यम से होने वाले वित्तीय एवं वाणिज्यिक प्रयोगों ने बाजार की अभिधाराणाओं को एक नई रूप रेखा प्रदान की है।
  • सोशल नेवर्किंग साइट्स के माध्यम से हम नए-नए दोस्त बना सकते हैं जिससे हमें बहुत कुछ नया सीखने को मिलता है।
  • सोशल नेवर्किंग साइट्स के माध्यम से हम किसी भी खबर को एक ही पल में एक ही शेयर से बहुत सारे लोगों तक पहुंचा सकते हैं।
  • जो लोग किसी समस्या की वजह से रेगुलर क्लास लगाकर नहीं पढ़ सकते उनके लिए इंटरनेट क्रांतिकारी बदलाव लाया है। आज के समय में ऑनलाइन क्लासेस के माध्यम से कोई भी व्यक्ति घर पर ही पढकर परीक्षा दे सकता है।
  • सुयोग्य वर-वधु की तलाश को भी इंटरनेट ने आसान कर दिया है। इंटरनेट पर ऐसी बहुत सी मैट्रीमोनी साइट्स है जिन पर आप अपनी पसंद के जीवन-साथी की तलाश कर सकते हैं।
  • जो लोग पार्ट टाइम जॉब करके पैसा कमाना चाहते हैं उनके लिए भी इंटरनेट एक वरदान के समान है। आज के समय में बहुत सारी ऑनलाइन जॉब्स उपलब्ध हैं जिससे घर बैठे ही पैसा कमाया जा सकता है।
  • कुकिंग सीखने के लिए भी अब कोई कुकिंग क्लासेज में पैसा बर्बाद करने की जरूरत नहीं है। आपको जो भी सीखना हो वो आप यू-ट्यूब पर लाइव देखकर सीख सकते हैं।
  • इंटरनेट सेवा के माध्यम से अब ई कॉमर्स और ई बाजार कर बढ़ते चलन ने सेवा प्रदाताओं और उपभोक्ताओं के बीच की दूरी को मिटा दिया है।
  • इंटरनेट एक-दूसरे से जोड़ने में मदद करता है। आज के समय में इंटरनेट पर ऐसे बहुत से माध्यम मौजूद हैं जिनकी सहायता से हम एक-दूसरे से जुड़े रह सकते हैं। इससे हमें किसी के दूर होने का अहसास नहीं होता है।
  • इंटरनेट हमारी पढाई में भी बहुत मदद करता है। आज के समय में बाजार में किताबें बहुत ही महंगी आती हैं और प्रत्येक व्यक्ति उन्हें खरीद नहीं सकता है। आप उन्हें इंटरनेट की सहायता से पढ़ सकते हैं और डाऊनलोड भी कर सकते हैं।

इंटरनेट एक अभिशाप 

इंटरनेट का उपयोग लेना लाभप्रद है लेकिन इसका अत्यधिक उपयोग करना नुकसानदायक भी हो सकता है। क्योंकि जहाँ लाभ होता है वहाँ हानि भी छुपी होती है। लाभ और हानि एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। किसी भी वस्तु का अत्यधिक इस्तेमाल करना हानिकारक होता है इसलिए इंटरनेट का गलत या अधिक इस्तेमाल करना भी हमारे लिए घातक हो सकता है इसलिए इंटरनेट हानियां भी होती है जो कि निम्न लिखित है –

मानसिक तनाव  
इंटरनेट का अत्यधिक इस्तेमाल मानसिक तनाव को बढ़ावा दे सकता है आजकल ऑनलाइन चैटिंग के जमाने में लोग एक दूसरे को जाने बिना दोस्ती कर लेते हैं और बातें करते रहते है और कुछ इस तरह की बातें एक दूसरे से शेयर कर देते है जो कि उनके लिए बाद में घातक सिद्ध होती है.

कुछ लोग इंटरनेट पर ब्लैकमेल भी करते है या फिर ऐसे भाषा का इस्तेमाल करते है जिससे मानसिक तनाव बढ़ता है.

शारीरिक दुष्प्रभाव  
इंटरनेट पर हम कई बार ऐसे वीडियो ऑडियो या चित्र देख लेते है जिनको देखकर हम भी वैसा ही करने की कोशिश करते है जिससे हमारे शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है.

इंटरनेट पर बाइक, कार और अन्य प्रकार के स्टंट के वीडियो उपलब्ध है जिनको देखकर बच्चे वैसा करने की कोशिश करते हैं और अपने शरीर को नुकसान पहुंचा लेते है. इसलिए इंटरनेट से शारीरिक दुष्प्रभाव भी हो सकते है.

डाटा की चोरी 
वर्तमान में सभी कंपनियों, सरकारी दस्तावेज, व्यक्तिगत दस्तावेज इत्यादि इंटरनेट पर ही है. तो इनके लीक होने का खतरा हर समय बना रहता है. और काफी कंपनियों का हर साल डाटा चोरी होता है जिसके कारण लाखों करोड़ों का नुकसान हो जाता है. इंटरनेट की दुनिया में डाटा चोरी होना एक प्रमुख समस्या है इससे बचने के लिए कई उपाय किए जाते हैं लेकिन फिर भी कहीं ना कहीं चूक हो जाती है इसलिए हमेशा इंटरनेट का इस्तेमाल
सावधानीपूर्वक करना चाहिए.

गैरकानूनी गतिविधियां 
इंटरनेट के माध्यम से कई गैरकानूनी विधियां की जाती हैं जैसे गैर कानूनी माल की सप्लाई के लिए जानकारी देना, आतंकवादी गतिविधियों बढ़ाने के लिए आतंकवादी इंटरनेट का इस्तेमाल ही करते है और भी अनेक कार्य है जो कि गैरकानूनी है और इंटरनेट पर छुपा कर किए जाते है.
इंटरनेट पर सुविधा की वजह से व्यक्तिगत जानकारी की चोरी बढ़ गई है, जैसे- क्रेडिट कार्ड नंबर, बैंक कार्ड नंबर आदि।
आज के समय में इंटरनेट का प्रयोग जासूसों के द्वारा देश की सुरक्षा व्यवस्था को भेदने के लिए किया जाने लगा है जो कि सुरक्षा दृष्टि से खतरनाक है। आज के समय में गोपनीय दस्तावेजों की चोरी भी होने लगी है।
गोपनीय दस्तावेजों की चोरी के लिए स्पामिंग का इस्तेमाल किया जाता है। यह एक अवांछनीय ई-मेल होती है जिसके माध्यम से गोपनीय दस्तावेजों की चोरी की जाती है।

इंटरनेट पर विद्यमान अश्लील सामग्री 
इंटरनेट पर पोरोनोग्रफी साईट पर अत्यधिक मात्रा में अश्लील सामग्री विद्यमान है। जिसका बुरा प्रभाव सबसे अधिक बच्चों पर और युवा पीढ़ी पर पड़ा है।
पोरोनोग्रफी साइट्स को देखकर लोग गलत रास्ते की ओर बढ़ रहे हैं और अपराध की तरफ अग्रसर हो रहे हैं। इस प्रकार की अश्लील सामग्री इंटरनेट पर डालने वाले लोग बहुत अच्छी आमदनी कमा रहे हैं। यह हमारे समाज के लिए जहर की तरह है जिसके खतरनाक परिणामों को हम हर रोज़ देखते हैं। इसलिए इस प्रकार की सामग्री इंटरनेट पर डालने से रोकने के लिए सख्त नियम बनाने चाहिए।

चिड़चिड़ापन 
इंटरनेट का अत्यधिक इस्तेमाल करने से चिड़चिड़ापन होने लग जाता है क्योंकि हम जैसा चाहते हैं इंटरनेट पर वैसा नहीं होता है कई बार बच्चे ऑनलाइन इंटरनेट पर गेम खेलते रहते हैं और आउट हो जाने पर उनका स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है. इंटरनेट पर कई हिंसक गेम, वीडियो और इत्यादि सामग्री उपलब्ध है जोकि चिड़चिड़ापन को बढ़ावा देती है.

व्यवहार में बदलाव 
वर्तमान में लोग एक दूसरे से मिलना बहुत कम पसंद करते हैं वे इंटरनेट पर ही दोस्त बनाना चाहते हैं और ज्यादातर समय इंटरनेट पर ही बताते हैं जिससे उनका व्यवहार पूरी तरह से बदल जाता है यह बात बात पर गुस्सा करते है, उनके बात करने की भाषा भी बदल जाती है. इंटरनेट की वजह से सोशल साइट्स का चलन बढ़ गया है। अब लोग परिवार में बैठकर बातें करने की जगह पर अकेले रहना पसंद करते हैं। क्योंकि सोशल साइट्स पर ही उनकी एक अलग दुनिया बन गई है जिससे परिवार बिखरने लगे हैं।

समय का दुरुपयोग
वर्तमान में ज्यादातर बच्चे और युवा लोग इंटरनेट पर ही समय व्यतीत करते हैं आप अपने आसपास नजर घुमा कर देखिए बस स्टैंड पर दुकान पर घर पर खेल के मैदान में सभी जगह लोग मोबाइलों में इंटरनेट चलाते दिख जाएंगे. इससे उनका जरूरी कार्य रुक जाता है और समय का दुरुपयोग होता है.

हाल ही में हुए एक सर्वे के अनुसार एक व्यक्ति इंटरनेट पर 3 घंटे से ज्यादा समय व्यतीत करता है जबकि इंटरनेट पर कार्य उसको 10 या 15 मिनट का होता है लेकिन फालतू के कार्य में वह समय व्यतीत करता रहता है.

उपसंहार | निष्कर्ष 

इंटरनेट आज की दुनिया में हर किसी के जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इंटरनेट सीखने सिखाने और नए दोस्त बनाने का सर्वोत्तम साधन है वर्तमान की दुनिया इसी पर आधारित है इंटरनेट ने दुनिया को इतना सरल बना दिया है कि आज इंटरनेट के बिना इस दुनिया की कल्पना करना मुश्किल है.

इंटरनेट विज्ञान का सबसे महत्वपूर्ण आविष्कार है. इस के आविष्कार के बाद विज्ञान को जैसे पंख ही लग गए है. इससे दुनिया के हर क्षेत्र में विस्तार हुआ है इंटरनेट का उपयोग अगर सही काम के लिए किया जाए तो यह बहुत ही अच्छा है. वास्तव में इंटरनेट ने मानव इतिहास में एक क्रांतिकारी परिवर्तन लाने का कार्य किया है।

लेकिन इसका दुरुपयोग किया जाए तो इसके बहुत गंभीर परिणाम हो सकते है इसलिए इंटरनेट को हमेशा सावधानीपूर्वक इस्तेमाल करना चाहिए. 

You may like these posts

Post a Comment