-->

बिल गेट्स की जीवनी | Bill Gates Biography in Hindi

Bill Gates Biography In Hindi बिल गेट्स दुनिया के सबसे अमीर आदमी में से एक है. ये अमेरिका के एक बड़े बिजनेसमैन है, जो कंप्यूटर प्रोग्रामर माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर है. माइक्रोसॉफ्ट दुनिया की सबसे बड़े सॉफ्टवेयर कंपनी है. 1975 में इस कंपनी की शुरुवात हुई थी, तब से बिल गेट्स ने इस कंपनी में अलग अलग पद में काम किया है, वे चेयरमैन, सीईओ एवं चीफ सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट रह चुके है. पर्सनल कंप्यूटर की दुनिया में एक क्रांति लाने के लिए बिल गेट्स का नाम इतिहास के पन्नों में अंकित है. वे उन महान उद्ययोगपतियों में से है, जिन्होंने अपनी मेहनत, लगन के बल पर पूरी दुनिया में अपना नाम बहुत ऊँचा उठा दिया.

1987 के बाद से लगातार बिल गेट्स का नाम दुनिया के सबसे अमीर आदमी की लिस्ट में आता रहा है. सबसे पहले 1987 में बिल गेट्स को दुनिया के अमीर आदमियों की लिस्ट में शामिल किया गया था, इसके बाद 1995 से 2007 तक लगातार वे दुनिया के सबसे अमीर आदमी रहे. इसके बाद वे फिर 2007 में इस लिस्ट में शामिल हो गए थे, जो 2014 तक रहे. अभी अगस्त 2016 में गेट्स फिर से दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन गए है, जिनकी आय 90 बिलियन डॉलर है. 2014 की अपेक्षा इनकी आय 15 बिलियन डॉलर बढ़ी है.

बिल गेट्स जीवन परिचय | Bill Gates Biography In Hindi

पूरा नाम
विलियम हेनरी गेट्स
जन्म तिथि
28 अक्टूबर, 1955
जन्मस्थान
सीटल, वाशिंगटन, अमेरिका
माता-पिता
मैरी मैक्सवल गेट्स- विलियम एच गेट्स
बहन
लिब्बी गेट्स, क्रिस्टी गेट्स
पत्नी
मेलिंडा गेट्स (1994)
बच्चे
1. जेनिफर कैथरीन गेट्स 2. फोवे अडले गेट्स 3. रोरी जॉन गेट्स
जाने जाते है
माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर

पर्सनल कंप्यूटर की क्रांति में गेट्स एक जाने-माने और बहुप्रचलित उद्योगपति है. उनके व्यापर संबंधी नियमो की वजह से कई बार उनकी आलोचनाएं भी की गयी, बल्कि कई बार तो मार्केट नियमो के विरुद्ध जाने पर उनपर क़ानूनी करवाई भी की गयी थी. लेकिन इसके तुरंत बाद उन्होंने अपने करियर को बहोत मजबूत और विश्वप्रसिद्ध बनाया, उन्होंने अपने सॉफ्टवेयर प्रोग्राम से कई विश्व रिकॉर्ड कायम किये और बहोत सी समाजसेवी संस्थाओ को बहोत बड़ा दान भी दिया. उन्होंने गेट्स और मेलिंडा द्वारा 2000 में स्थापित साइंटिफिक रिसर्च सेंटर को भी अपनी संपत्ति का कुछ भाग दान स्वरुप दिया.

बिल गेट्स आरंभिक जीवन | Bill Gates Early Life

गेट्स का जन्म सिएटल, वॉशिंगटन में, विलियम एच। गेट्स, सीनियर और मरी मैक्सवेल गेट्स के यहाँ हुआ। उनका परिवार धनी था, उनके पिता एक प्रमुख वकील थे, उनकी माँ प्रथम इंटरस्टेट बैंक सिस्टम और यूनाइटेड वे के निदेशक मंडल मे सेवारत थीं और उनकी पिता, जे. डब्ल्यू. मैक्सवेल, एक राष्ट्रीय बैंक के अध्यक्ष थे। गेट्स की एक बड़ी बहन, क्रिस्टी (क्रिस्तिंने) और एक छोटी बहन, लिब्बी है। वे अपने परिवार में सम नाम के चौथे व्यक्ति थे, लेकिन विलियम गेट्स I या "ट्रे" के नाम से जाने जाते थे क्योंकि उनके पिता ने अपने नामांत में I जोड़ना छोड़ दिया था। उनके जीवन के प्रारंभिक काल में उनके माता पिता के मन में उनके लिए कानून का कैरियर था।
Bill GAtes Life story
उनके माता – पिता उनके लिए क़ानून में करियर बनाने का स्वप्न लेकर बैठे थे परन्तु उन्हें बचपन से ही कंप्यूटर विज्ञान तथा उसकी प्रोग्रामिंग भाषाओं में रूचि थी | उनकी प्रारंभिक शिक्षा लेकसाइड स्कूल में हुई | जब वह आठवीं कक्षा के छात्र थे तब उनके विद्यालय ने ऐएसआर – 33 दूरटंकण टर्मिनल तथा जनरल इलेक्ट्रिक कंप्यूटर पर एक कंप्यूटर प्रोग्राम खरीदा जिसमें गेट्स ने रूचि दिखाई | तत्पश्चात मात्र तेरह वर्ष की आयु में उन्होंने अपना पहला कंप्यूटर प्रोग्राम लिखा जिसका नाम “टिक-टैक-टो”तथा इसका प्रयोग कंप्यूटर से खेल खेलने हेतु किया जाता था | बिल गेट्स इस मशीन से बहुत अधिक प्रभावित थे तथा जानने को उत्सुक थे कि यह सॉफटवेअर कोडस किस प्रकार कार्य करते हैं |

बिल गेट्स की शिक्षा – Bill Gates Education

बिल गेट्स बचपन से भी पढ़ने में काफी होशियार औ विलक्षण प्रतिभा के बालक थे। उनकी शुरु से ही पढ़ने में काफी दिलचस्पी थी, वे घंटों घर में अकेले ही पढ़ा करते थे। इसके बाद साल 1968 में बिल गेट्स के माता-पिता ने उनका एडमिशन एक प्राइवेट स्कूल लेकसाइट स्कूल में करवा दिया।

शुरुआत में बिल गेट्स सभी विषयों में अच्छे थे, लेकिन गणित और विज्ञान में उन्होंने महारथ हासिल की थी। इसके अलावा वे स्कूल के अन्य एक्टिविटी में भी भाग लेते थे। वहीं बिल गेट्स के स्कूल में बच्चों को जब कंप्यूटर चलाना सिखाया जा रहा था, तभी से उनकी दिलचस्पी कंप्यूटर की तरफ बढ़ने लगी और वे अपना ज्यादा से ज्यादा समय कंप्यूटर के साथ ही व्यतीत करने लगे।

इसके बाद बिल गेट्स ने महज 13 साल की छोटी सी उम्र में प्रोग्रामिंग पर अपनी कमांड तेज कर ली और एक सॉफ्टवेयर प्रोग्राम यानि कि प्रोग्रामिंग कंप्यूटर बना दिया, जो कि ”Tic-Tac-Tow” के नाम से जाना गया। इसके बाद लगातार बिल गेट्स अपने स्कूल के कंप्यूटर पर कुछ नया करने एवं प्रोग्रामिंग बनाने की जुगत में रहते थे। वहीं जब वे हाईस्कूल में पहुंचे तब उन्होंने स्कूल के पेरोल प्रणाली को कम्पूयटरीकृत कर दिया था।

वहीं इसके बाद स्कूल में ही बिल गेट्स की मुलाकात पॉल एलन (Paul Allen) से हुई, जो कि उनसे सीनियर थे, पॉल की कम्यूटर में दिलचस्पी की वजह से दोनों एक-दूसरे के अच्छे दोस्त बन गए और फिर दोनों ही स्कूल की लैब में साथ-साथ वक्त गुजारने लगे और अपने स्कूल के कम्यूटर कंपनी के सॉफ्टवेयर के साथ सीखने के मकसद से छेड़खानी करते रहते थे, जिसके बाद स्कूल में कम्यूटर कंपनी ने कुछ समय तक रोक लगा दी।
हालांकि, कुछ समय बाद बिल गेट्स और पॉल दोनों को फिर से स्कूल की लैब में जाने की परमिशन इस शर्त पर दी गई थी कि वे प्रोग्राम से सभी एरर को निकाल दे। मात्र 17 वर्ष कि उम्र में उन्होंने अपने मित्र एलन के साथ मिलकर ट्राफ़- ओ- डाटा नामक एक उपक्रम बनाया जो इंटेल 8008 प्रोसेसर पर आधारित यातायात काउनटर (Traffic Counter) बनाने के लिए प्रयोग में लाया गया | वहीं बिल गेट्सको इस प्रोग्राम को बनाने के लिए $20,000 मिले थे, और यही उनकी पहली कमाई थी। उसके पश्चात उन्होंने चिप बनाया तथा यह उस समय का व्यक्तिगत कंप्यूटर (Personal Computer) के अन्दर चलने वाला सबसे वहनयोग्य चिप था, जिसके पश्चात बिल गेट्स को यह एहसास हुआ कि समय द्वारा दिया गया यह सबसे उत्तम अवसर है जब उन्हें अपनी स्वयं कि कंपनी का आरम्भ करना चाहिए |

साल 1973 में बिल ने अपनी स्कूल की पढ़ाई पूरी कर ली और फिर इसके बाद उन्होंने हॉवर्ड कॉलेज में एडमिशन लिया। अपने कॉलेज के दिनों में भी बिल गेट्स अपना ज्यादातर समय कंप्यूटर के साथ ही बिताते थे, फिर इसके बाद उन्होंने कॉलेज छोड़ अपने दोस्त एलन के साथ बिजनेस करने का फैसला लिया।

बिल गेट्स का करियर – Bill Gates Career

माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना – Microsoft Established

बिल गेट्स अपने स्कूल की पढ़ाई के दौरान ही कम्यूटर सॉफ्टवेयर बनाने में निपुण हो गए थे, जब वे महज 20 साल के थे, तभी अपने दोस्त पॉल एलन के साथ मिलकर साल 1975 में माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की थी, जो कि आज दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी बन चुकी है। हालांकि शुरुआत में यह माइक्रो-सॉफ्ट के नाम से जानी जाती थी।
bill gates - microsoft
उन्होंने शुरुआत में माइक्रोकंप्यूटर की मशहूर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज ”बेसिक” नाम का प्रोग्राम बनाकर सफलता हासिल की और फिर इसके बाद कई अन्य कंपनी के लिए प्रोग्रामिंग लैंग्वेज एवं ऑपरेटिंग सिस्टम डेवलप करने लगे,जिसके चलते कुछ ही समय में उनकी माइक्रोसॉफ्ट कंपनी ने अपनी पहचान बना ली।

IBM से माइक्रोसॉफ्ट की डील – Microsoft And IBM Deal

इसके बाद साल 1980 में  विश्व की सबसे बड़ी कंपनी में से एक IBM (इंटरनेशल बिजनेस ममशीन) ने माइक्रोसॉफ्ट से आईबीएम के नए पर्सनल कंप्यूटर के लिए बेसिक सॉफ्टवेयर बनाने की डील ऑफर की। इस डील के बाद बिल गेट्स की कंपनी ने आईबीएम के लिए PC Doc ऑपरेटिंग सिस्टम बनाया।

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम की शुरुआत – Windows Operating System Established
बिल गेट्स ने 10 नवंबर, 1983 में माइक्रोसॉफ्ट विंडोज की घोषणा की और फिर इसके दो साल बाद 1985 में अपना पहला माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च किया। इसके बाद कुछ ही सालों में दुनिया के सभी पर्सनल कम्यूटर ने उनके इस ऑपरेटिंग सिस्टम Windows ने अपना कब्जा कर लिया।

माइक्रोसॉफ्ट की सफलता और दुनिया के सबसे अमीर शख्स के रुप में बिल गेट्स

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के चलते सफलता की नई बुलिंदियों को छुआ। दऱअसल, पर्सनल कम्यूटर के करीब 90 फीसदी शेयर विंडोज के नाम हो गए और वहीं उस दौरान माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के सबसे बड़े शेयर होल्डर बिल गेट्स थे। जिसके चलते बिल गेट्स को काफी फायदा हुआ और 1987 में करीब 32 साल की उम्र में वे दुनिया के सबसे अमीर शख्सियत बन गए और फिर लगातार 11 साल वे दुनिया के सबसे अमीर शख्सियत बने रहे।

अपनी प्रतिभा और विवेकशीलता से लगातार सफलता के नए आयामों को छू रहे बिल गेट्स ने साल 1989 में ”माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस” की शुरुआत की। यह एक पैकेज की तरह था, जिसमें माइक्रोसॉफ्ट वर्ड (Microsoft Word), माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल (Microsoft Excel) समेत कई सॉफ्टवेयर एक साथ ही सिस्टम में चलाए जा सकते थे।
इसके चलते माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस ने दुनिया के सभी पर्सनल कम्यूटर पर एकाधिकार कर नई कामयाबियों को हासिल किया। 1990 के दशक में जब इंटरनेट का इस्तेमाल तेजी से बढ़ रहा था, उस समय बिल गेट्स भी इंटरनेट द्धारा सॉफ्टवेयर को उपलब्ध करवाने पर अपना पूरा फोकस कर रहे थे।

आपको बता दें कि विंडोज Ce ऑपरेटिंग सिस्टम प्लेटफोर्म (Operating System Platform) ‘एवं “दी माइक्रोसॉफ्ट नेटवर्क“ (The Microsoft Network) उस दौर के सबसे महान डेवलपमेंट में से एक थे। अपनी प्रोग्रामिंग और कंप्यूटर प्रतिभा का लोहा पूरी दुनिया में मनवा चुके बिल गेट्स ने साल 2000 में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ पद से रिजाइन कर दिया एवं चेयरमैन बन गए एवं अपने लिए उन्होंने ”चीफ सॉफ्टवेयर आर्किटेक्ट” का नया पद बनाया।

अगले कुछ सालों में बिल गेट्स ने माइक्रोसॉफ्ट में अपने काम दूसरों को देने लगे, और खुद वे परोपकारी कार्यों में अधिक समय बिताने लगे. फ़रवरी 2014 में बिल ने चेयरमैन पद से भी इस्तीफा दे दिया, और अब वे माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ ‘सत्या नादेला’ के टेक्नोलॉजी एडवाइजर के रूप में कार्यरत है.

द बिल एंड मेलिंडा फाउंडेशन की स्थापना एवं समाजिक काम

बिल गेट्स एवं उनकी पत्नी मेलिंडा गेट्स ने मिलकर साल 2000 में गरीब, असहाय और जरूरतमंद लोगों की मद्द के लिए बिल गेट्स एवं मेलिंडा फाउंडेशन की स्थापना की। उनका यह फाउंडेशन आज विश्व के सबसे बड़ी चैरिटी संस्थानों में से एक है।

इसके अलावा बिल गेट्स ने साल 2010 में विश्व के सबसे बड़े  निवेशक वॉरेन बफेट और फेसबुक के फाउंडर एवं सीईए मार्क जुकरबर्ग के साथ मिलकर एक अग्रीमेंट साइन किया, जिसके तहत वे अपनी कमाई का आधा हिस्सा दान में दिया करेंगे। इसके अलावा वे हर साल भारत में आकर देश के गरीब बच्चों की सहायता करते हैं एवं उनकी जरूरत के मुताबिक उन्हें उचित सुविधाएं उपलब्ध करवाते हैं।

बिल गेट्स की शादी एवं निजी जीवन – Bill Gates Life Story And Marriage

साल 1989 में बिल गेट्स की मुलाकात मेलिंडा फ्रेंच से हुई थी, जो कि उनकी माइक्रोसॉफ्ट कंपनी में ही काम करती थी। बिल गेट्स ने जब मेलिंडा को पहली बार देखा तभी उन्हें पसंद कर लिया और फिर वे दोनों एक-दूसरे के करीब आ गए एवं दोनों का प्यार परवान चढ़ा। हालांकि मेलिंडा उनसे उम्र में काफी छोटी थी।


इसके बाद साल 1994 में दोनों शादी के बंधन में बंध गए। शादी के बाद दोनों को जेनिफर कैथरीन गेट्स, फोवे अडले गेट्स, रोरी जॉन गेट्स नाम के तीन बच्चे भी पैदा हुए।

बिल गेट्स को मिले अवार्ड्स – Bill Gates Awards

दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट की नींव रखने वाले बिल गेट्स को उनके उत्कृष्ट और नेक कामों के लिए कई पुरस्कारों से भी सम्मानित किया जा चुका है, जिनमें से कुछ पुरस्कारों के बारे में यहां हम आपको यहां बता रहे हैं-
  • सन 2002 में बिल गेट्स और उनकी पत्नी मेलिंडा को अच्छे सामाजिक काम करने के लिए ‘जेफ़र्सन अवार्ड’ दिया गया.
  • सन 2010 में गेट्स को माइक्रोसॉफ्ट में मिली उपलब्धि और उनके परोपकारी कार्य के लिए फ्रेंक्लिन इंस्टिट्यूट द्वारा ‘बोवेर अवार्ड’ दिया गया था.
  • साल 2010 में बिल गेट्स और उनकी पत्नी मिलिंडा को उनके द्धारा गरीब और जरूरतमंदों की सहायता के लिए भारत में चलाए जा रहे चैरिटी फाउंडेशन के लिए भारत सरकार द्धारा पद्म भूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।
  • बिल गेट्स पर बहुत सी फिल्म, डॉक्यूमेंटरी, विडिओ क्लिप्स बन चुकी है. इन पर बहुत सी किताबें भी लिखी गई है, जिसे बिजनेस स्कूल में मुख्य रूप से पढ़ाया जाता है. दुनिया के सभी युवाओं के लिए बिल गेट्स एक बहुत बड़े प्रेरणास्रोत है.

बिल गेट्स द्धारा लिखी गई किताबें – Bill Gates Books

द रोड अहेड (The Road Ahead)
बिजनेस @ द स्पीड ऑफ थॉट (Business @ The Speed Of Thought)
दुनिया के सबसे अमीर शख्सियत बिल गेट्स की प्रेरणादायक जीवन को लेकर कई फिल्म, वीडियो क्लिप्स एवं डॉक्यूमेंटरी भी बनाई जा चुकी हैं। इसके अलावा बिल गेट्स पर कई किताबें भी लिखी जा चुकी हैं।

बिल गेट्स से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें – Facts About Bill Gates

  • बिल गेट्स का बचपन में निकनाम ‘ट्रे’ था.
  • पहला कंप्यूटर प्रोग्राम जिसे बिल गेट्स ने लिखा था, वो था ‘टिक-टैक्-टू’ गेम.
  • स्कूल के दिनों में बिल अपने दोस्तों के सामने हमेशा ऐसा बोला करते थे कि वे 30 साल की उम्र में मिलेनियर होंगें. उनकी यह कही बात सच रही, 31 साल की उम्र में बिल गेट्स सचमुच मिलेनियर बन गए थे.
  • 1977 में न्यू मैक्सिको में बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाने के अपराध में बिल गेट्स को गिरफ्तार कर लिया गया था.
  • 1994 में लियोनार्दो दा विंसी द्वारा लिखित पेजों का कलेक्शन ‘कोडेक्स लेस्टर’ को बिल गेट्स ने 30.8 मिलियन डॉलर में, एक नीलामी में ख़रीदा था.
  • बिल गेट्स को इस बात का बहुत पछतावा है कि उन्हें कोई भी फोरेन लैंग्वेज नहीं आती है.
  • फेसबुक के को-फाउंडर मार्क से मिलने के बाद, पहली बार बिल गेट्स ने फेसबुक में अपना अकाउंट बनाया था, इसके पहले वे सोशल मीडिया में एक्टिव नहीं थे.
  • अगर माइक्रोसॉफ्ट कंपनी फ़ैल हो जाती तो बिल गेट्स आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में एक खोजकर्ता होते.
  • बिल गेट्स के पास इतना अपार धन होने के बावजूद उन्होंने कहा है कि उनके हर बच्चे के नाम उनकी जायदाद में से 10 मिलियन डॉलर निहित है. इसके अलावा कोई अतिरिक्त राशी उनके बच्चों को नहीं दी जाएगी.
  • बिल गेट्स की पसंदीदा बिजनेस बुक ‘बिजनेस ऐडवेंचर’ है.
  • सन 2007 में हारवर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा बिल गेट्स को हॉनर की डिग्री से सम्मानित किया गया था. यह वही यूनिवर्सिटी है, जिसे 32 साल पहले बिल गेट्स ने बीच में ही छोड़ दिया था.
  • गेट्स के पास कोई भी एजुकेशन डिग्री नहीं है.
  • बिल गेट्स लगभग हर साल भारत यात्रा में आते है, और यहाँ गरीबों के उत्थान के लिए कार्य करते है.

बिल गेट्स के विचार | Bill Gates Motivational Quotes

  • चाहे आपमें कितनी भी योग्यता क्यों न हो, केवल एकाग्रचित्त होकर ही आप महान कार्य कर सकते हैं।
  • सफलता एक घटिया शिक्षक है। यह लोगों में यह सोच विकसित कर देता है कि वो असफल नहीं हो सकते।
  • जब आपके हाथ में पैसा होता है तो केवल आप भूलते है की आप कौन है लेकिन जब आपके हाथ खाली होते है तो सम्पूर्ण संसार भूल जाता है की आप कौन है।
  • यह सही हैं की सफलता का जश्न आप मनाये पर अपने पुराने बुरे समय को याद रखते हुए।
  • मैं एक कठिन काम को करने के लिए एक आलसी इंसान को चुनुंगा क्योकि आलसी इंसान उस काम को करने का एक आसान तरीका खोज लेगा।
  • बेवकूफ बनकरखुश रहिये और इसकी पूरी उम्मीद हैं की आप अंत में सफलता प्राप्त करेंगे।
  • जीवन सेमेस्टर में विभाजित नहीं है। आपको गर्मियों में छुट्टी नहीं मिलती है और कुछ नियोक्ता आपको अपने आप को खोजने में मदद करने में रुचि रखते हैं।
  • यदि जनरल मोटर्स कम्प्यूटर इंडस्ट्री के हिसाब से अपनी टेक्नोलॉजी का विकास करता तो आज हम $25 की कार चला रहे होते जो 1000 माईल्स पर गैलन के हिसाब से चलती।
  • मेरा विश्वास है की यदि आप लोगो को समस्याएं दिखाओंगे और उनका हल सुझाओगे तो लोग उसको अपनाने के लिए आकर्षित होंगे।
  • मैं परीक्षा में कुछ विषयो में फ़ैल हो गया। और मेरे सभी दोस्त पास हो गये !अब वे माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी में इंजीनियर है और मै माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी का मालिक हूँ।
  • टेक्नोलॉजी केवल मात्र एक औजार है जो बच्चों को एक साथ काम करने के लिए पास लाते है पर जहां तक बात बच्चों को प्रेरित करने की है तो शिक्षक सबसे महत्तवपूर्ण है।

आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं

1 टिप्पणी

  1. thanks for this inspirable sttory of Bill Gates