-->

हंता वायरस (Hanta Virus) क्या है? कैसे संक्रमित करता है? बचाव

दुनियाभर में कोरोना वायरस से ख़ौफ़ के बीच हंता वायरस ने भी लोगों की चिंताएं बढ़ा दी हैं.
पूरी दुनिया कोरोना वायरस के कारण सहमी हुई है तो वही चीन में एक नए वायरस के संक्रमण ने वहां के लोगों के साथ-साथ पूरी दुनिया को इसके बारे में परेशान कर दिया है। शुरुआती जानकारी के अनुसार यह वायरस Covid-19 जितना खतरनाक नहीं है। चीन में कोरोना वायरस के कारण हजारों लोगों की मौत हो गई है, इसी बीच इस वायरस के बारे में भी लोग जानना चाह रहे हैं। इसके कारण चीन में एक इंसान की मौत भी हो चुकी है।Hantavirus in Hindi, क्या है हंता वायरस, हंता वायरस की सम्पूर्ण जानकारी हिंदी भाषा में पढ़े, हंता वायरस कितना खतरनाक है , जाने हंता वायरस के क्या लक्षण है और यह कैसे फैलता है, हंता वायरस के लिए क्या सावधानी बरतनी चाहिए  , इसके बारे में नीचे आपको पूरी जानकारी दी जा रही है।


दोस्तों आपको बता दे की यह हंता वायरस भी चीन देश में ही आया है, सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हंता वायरस (Hanta virus) चीन के यूनान प्रान्त से शुरू हुआ वायरस है, इस हंता वायरस (Hanta virus) से एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है, दोस्तों लोगो में फिर से एक बार दहशत फेल रही है, कि कंही यह हंता वायरस (Hanta virus) भी कोरोना वायरस की तरह महामारी न बन जाये।

चीन में हंता वायरस की वजह से 23 मार्च को एक शख्स की मौत की ख़बर है.

ग्लोबल टाइम्स की ख़बर के मुताबिक़, हंता वायरस से संक्रमित शख्स जिस बस में सवार था, उसमें सवार 32 लोगों की जांच की गई है.
इस ख़बर के सामने आते ही ट्विटर पर #HantaVirus टॉप ट्रेंड करने लगा.

लोग कोरोना से जारी जंग के बीच हंता को लेकर अपनी प्रतिक्रियाएं और डर ज़ाहिर कर रहे हैं.

Hanta Virus क्या है? हंता वायरस कैसे संक्रमित करता है?

अमेरिका में है न्यूव‌र्ल्ड हंता वायरस नाम

चूहों में पनपने वाला यह वायरस अमेरिका में न्यूव‌र्ल्ड हंता वायरस के नाम से जाना जाता है। चूहों, छछूंदर व गिलहरी की प्रजाति पर अलग-अलग हंता वायरस पनपता है। यह उनके मल, मूत्र, लार के संपर्क में आने या उनके काटने से हो सकता है।

सीडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक़ हंता वाइरस (Hanta virus) चूहों के माध्यम से फैलने वाला वायरस है, हंता वायरस (Hanta virus) एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में नहीं जाता है, लेकिन यदि कोई व्यक्ति चूहों के मल, पेशाब आदि को छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसके हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। (source) हंता के संक्रमण का पता लगने में एक से आठ हफ्तों का वक़्त लग सकता है.(BBC)

विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना वायरस की तरह से हंता वायरस घातक नहीं है। कोरोना के व‍िपरीत यह हवा के रास्‍ते नहीं फैलता है। यह चूहे या गिलहरी के संपर्क में इंसान के आने से फैलता है। सेंटर फॉर डिजिज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के मुताबिक, ‘चूहों के घर के अंदर और बाहर करने से हंता वायरस के संक्रमण का खतरा रहता है। यहां तक कि अगर कोई स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति भी है और वह हंता वायरस के संपर्क में आता है तो उसके संक्रमित होने का खतरा रहता है।’

Rat, Rodent, Pest, Rattus Rattus, Hanta virus

हंता वायरस (Hanta virus) लक्षण

  • अगर कोई व्यक्ति हंता संक्रमित है तो उसे बुखार, दर्द, सर्दी, बदन दर्द, उल्टी जैसी दिक़्क़तें हो सकती हैं.
  • अगर हंता वायरस (Hanta virus) के इलाज में देरी होती है, तो संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ो में पानी भी भर जाता है, और उसे सांस लेने में काफी परेशानी होती है |
  • सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल और प्रेवेंशन के अनुसार जब कोई इंसान हंता वायरस से संक्रमित होने पर, उसे 101 डिग्री के ऊपर बुखार होता है, उसकी मांसपेशियों में दर्द रहता है और उसे सिर दर्द भी महसूस होता है। इसके साथ-साथ हंता वायरस से संक्रमित व्यक्ति को मतली, उल्टी और पेट दर्द की समस्या भी होती है। साथ ही साथ त्वचा पर लाल दाने भी उभरने लगते हैं। 
जनवरी 2019 में हंता से संक्रमित नौ लोगों की पेटागोनिया में मौत हो गई थी. इसके बाद पर्यटकों को आगाह भी किया गया था. तब के एक अनुमान के मुताबिक़, हंता वायरस से संक्रमित लोगों के 60 मामले सामने आए थे, जिनमें 50 को क्वारंटीन रखा गया था. CDC की मानें तो हंता वायरस में मृत्युदर 38 फ़ीसदी होती है और इस बीमारी का कोई 'स्पेसिफिक ट्रीटमेंट' नहीं है.
फिलहाल वैज्ञानिक इसके संक्रमण को रोकने के लिए लगातार अध्ययन कर रहे हैं। डॉक्टरों के द्वारा यह भी कहा गया है कि लोगों को इससे घबराने की जरूरत नहीं है, क्योंकि यह केवल चूहा और गिलहरियों के ही संपर्क में आने से फैलता है। हालांकि हंता वायरस से भारत भी अछूता नहीं रहा है। 2008 और 2016 में दो बार ऐसे मामले सामने आए हैं। फिलहाल एहतियात के तौर पर आप भी अपने आसपास मौजूद चूहों और गिलहरियों से दूरी बनाए रखें।

हंता वायरस (Hanta virus) से संबंधित पूछे जाने वाले सवाल?

हंता वायरस (Hanta virus) सबसे पहले किस देश में आया है?
दोस्तों हंता वायरस (Hanta virus) का पहले मरीज चीन देश के यूनान प्रान्त था |

क्या हंता वायरस (Hanta virus) भी कोरोना वायरस की तरह ही फैलता है?
नहीं, यह चूहों को खाने से फैलता है, (यदि कोई व्यक्ति चूहों के मल, पेशाब आदि को छूने के बाद अपनी आंख, नाक और मुंह को छूता है तो उसके हंता वायरस से संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है। )

हंता वायरस (Hanta virus) से संक्रमित व्यक्ति में क्या में क्या लक्षण देखने को मिलते है?
बुखार, सिर दर्द, शरीर में दर्द, पेट में दर्द, उल्‍टी, डायरिया आदि |

हंता वायरस (Hanta virus) कैसे फैलता है ?
यह चूहे या गिलहरी के संपर्क में इंसान के आने से फैलता है।

क्या हंता वायरस (Hanta virus) से पीड़ित मरीज को भी फेफड़ो में परेशानी होती है?
हाँ, जी हंता वायरस (Hanta virus) से संक्रमित व्यक्ति के फेफड़ो में पानी भर जाता है.

सोर्स : bbc

नोट-दोस्तों अगर आपको हमारी टीम द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी, तो आप इस सूचना को अपने दोस्तों के साथ जरूर करे- "Sharing is Caring" धन्यवाद

आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं

टिप्पणी पोस्ट करें