-->

PM Modi Poshan Abhiyan 2020 पीएम मोदी पोषण अभियान 2020 की पूरी जानकारी

PM Modi Poshan Abhiyan 2020 In Hindi | Central Govt Launches Poshan Abhiyaan For Malnutrition Children | केंद्र सरकार बाल स्वास्थ्य योजना पोषण अभियान

पोषण अभियान

पोषण अभियान

पोषण अभियान (POSHAN : Prime Minister’s Overarching Scheme for Holistic Nutrition) को मार्च 2018 में राजस्थान के झुंझुनू में लॉन्च किया गया था। इस अभियान का उद्देश्य, गर्भवती महिलाओं, माताओं व बच्चो के पोषण की आवश्यकताओं को पूरा करना है। इसके अतिरिक्त इसका लक्ष्य बच्चो, महिलाओं में खून की कमी (अनीमिया) को दूर करना भी है।

यह महिला व बाल विकास मंत्रालय का फ्लैगशिप कार्यक्रम है। यह कार्यक्रम आँगन वाड़ी सेवा, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, जननी सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, स्वच्छ भारत मिशन, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, मनरेगा से जुड़ा है।

पोषण अभियान ही असल में कुपोषण के खात्मे का जरिया बन सकता है, जिसके लिए सराज के प्रशासनिक अधिकारियों ने कमर कस ली है। राष्ट्रीय पोषण माह-2019 का आयोजन पहली से 30 सितंबर 2019 तक किया जाएगा। राष्ट्रीय पोषण माह के अंतर्गत बाल विकास परियोजना सराज स्थित जंजैहली के सौजन्य से थुनाग में खंड स्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बैठक की अध्यक्षता उपमंडलाधिकारी थुनाग सुरेंद्र मोहन ने की। इस अभियान को सफल बनाने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के आंगनबाड़ी स्तर पर पोषण जागरूकता अभियान को जन आंदोलन बनाने का कार्य करेगा और साथ-साथ सभी विभागों की सक्रिय भूमिका में रहने के आदेश जारी किए गए, जिसमें पोषण माह के दौरान ग्रामीण स्तर पर घर-घर पोषण अभियान चलाने और जागरूकता कार्यक्रम की जानकारी दी जाएगी।

यह अभियान 30 सितंबर तक चलेगा। अभियान में महिलाओं, बच्चों को पोषित करने से जुड़ी अहम जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। इसके अलावा अन्य जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। अभियान में महिला बाल विकास विभाग सहित स्वास्थ्य, शिक्षा जैसे 12 विभागों का समन्वय किया गया है। एसडीएम थुनाग सुरेंद्र मोहन ने बताया कि अभियान में जीवन के प्रथम 1000 दिवस के दौरान स्वास्थ्य एवं पोषण आवश्यकता के प्रति जागरूकता लाना,गर्भावस्था जांच एवं पोषण देखभाल, शीघ्र स्तनपान एवं केवल स्तनपान, सही समय पर आहार एवं इसकी निरंतरता आदि के विषय में प्रचार प्रसार लोगों के बीच जाकर किया जाएगा। एनीमिया या शरीर में खून की कमी को दूर करने के लिए आयरन सेवन एवं खाद्य पदार्थों के बारे में जानकारी दी जाएगी। 

बेहतर पोषण प्राप्त करना सभी का समान अधिकार है। संविधान के अनुच्छेद 47 के अनुसार राज्य के लोगों को बेहतर पोषण प्रदान कराना राज्य की प्राथमिक जिम्मेदारी भी है। इसको लेकर राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएं भी चलाई जा रही हैं। सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी कुपोषण को खत्म करने की कई चुनौतियां सामने आती रही हैं। इसको ध्यान में रखते हुए कुपोषण से लड़ने के लिए मार्च 2018 में पोषण अभियान की शुरुआत की गई। साथ ही अभियान के तहत वर्ष 2022 तक छह साल तक की आयु के बच्चों में कुपोषण का स्तर 38.4 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत तक लाने का लक्ष्य भी निर्धारित किया गया।

Poshan Abhiyan (National Nutrition Mission)

National Nutrition Mission (Poshan Abhiyan) को मार्च 2018 को लागू की गयी थी। National Nutrition Programme 3 साल तक चलेगा। Poshan Abhiyan के लिए सरकार ने 3 सालो के लिए 9046 करोड़ का बजट स्थापित किया है। 
National Nutrition Mission भारत का बड़े पैमाने पर चलने वाला अभियान है, जो की बच्चो, बालिग बालिकाए, गर्भवती महिलाऐ एवं स्तनपान कराने वाली माताओ में पोषण की कमी को सुधारना है। 
National Nutrition Mission के तहत टेक्नोलॉजी से लक्ष्य हासिल किया जाएगा। Poshan Abhiyan के तहतजो भी बच्चो को विकास की कमी न होकुपोषणएनीमिया न हो उस का ध्यान रखता है। इस योजना को जन आंदोलन स्वरूप प्रस्तुत किया है।
Poshan Abhiyan के तहत कुछ वर्षो में जुदा जुदा निगरानी रख के Poshan Abhiyan के लख्य को हासिल किया जाएगा। National Nutrition Mission कार्यक्रम के तहत सभी 36 राज्य और संघ राज्य और उनके सभी जिल्लो को कवर कर लिया जाएगा।
2017-18 में 315 जिले2018-19 में 235 जिले और बचे हुए जिलों में 2019-20 में Poshan Abhiyan लागू की जाएगी। इस प्रोग्राम के तहत 10 करोड़ बच्चे और औरतो को लाभ प्राप्त होगा।
National Nutrition Programme के तहत आंगनवाड़ी केन्द्रो की सेवाओं की क्वालिटी में भी सुधार किया जाएगा।

Poshan Abhiyan कैसे काम करेगा ?

  • इस योजना से जुड़ी माहिती के लिए एक Application Software तैयार कि जाएगी।
  • सभी महिला कर्मचारियो को Smart Phone ओर सुपेरवाइजरो को Tablet दिया जाएगा।
  • सभी आंगनवाड़ी केन्द्रो पर बच्चो के कद की सही जानकारी संग्रह करने हेतु इन्फैंटो मीटर (Infantometer)स्टेडियोमीटर (Stadiometer) दिया जाएगा।
  • वजन की कमी का पता लगाने के लिए कर्मचारी महिलाए प्रत्येक महीने वजन का Data योजना की बनाई Application Software पर लिखेगी।
  • विकास मे रुकावट ओर ठिगनेपन का पता लगाने के लिए कर्मचारी महिलाए हर तीसरे महीने लम्बाई / ऊँचाई का Dataयोजना की बनाई Application Software पर लिखेगी।
PM Modi Poshan Abhiyan 2020: नमस्कार दोस्तों, आज हम बात करेंगे “पीएम मोदी पोषण अभियान” की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2022 तक भारत को कुपोषण मुक्त बनाने के उद्देश्य से ‘पोषण अभियान’ शुरू किया है। केंद्रीय सरकार के प्रमुख “PM Modi Poshan Abhiyaan” में सभी राज्यों, जिलों और कस्बों को शामिल किया जाएगा। लोग अब POSHAN Abhiyan की गतिविधियों की सूची और विषय-वस्तु ऑनलाइन poshanabhiyaan.gov.in पर देख सकते हैं। इस पीएम पोषण अभियान की टैगलाइन सही पोषण देश रोशन है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य शिशुओं, गर्भवती महिला और स्तनपान कराने वाली माताओं को पर्याप्त पोषण प्रदान करना है।
पोशन अभियान बच्चों, किशोरों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए पोषण परिणामों में सुधार करने के लिए भारत का प्रमुख कार्यक्रम है। यह लीवरेजिंग तकनीक, एक लक्षित दृष्टिकोण और अभिसरण द्वारा किया जाता है। केंद्रीय सरकार इसे जन अभियान (जन आन्दोलन) में बदलने के लिए पोशन अभियान के साथ बड़ी संख्या में लोगों को जोड़ना चाहता है। PM Modi Poshan Abhiyan के अंतर्गत महिला और बाल विकास मंत्रालय ने पहले वर्ष, 315 जिलों में पोषण अभियान लागू करेगा और दूसरे वर्ष में 235 और तीसरे वर्ष में बाकी के बचे जिले को इस योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा।
गुजरात सरकार द्वारा पोषण अभियान
POSHAN Abhiyan by Gujarat Govt – गुजरात राज्य के सीएम विजय रूपानी ने भारत को कुपोषण मुक्त बनाने के उद्देश्य से केंद्र सरकार की योजना गुजरात में राज्य व्यापी “पोषण अभियान” शुरू किया है। 2 साल का पोषण अभियान सभी शहरों, कस्बों और गांवों को कवर करेगा। गुजरात सरकार मानव विकास में अग्रणी बनाने के लिए 23 जनवरी 2020 को पोशन योजना शुरू की। रुपाणी ने रुपये के नकद पुरस्कारों की घोषणा की जिसके तहत आंगनवाड़ी, आशा और एएनएम कार्यकर्ताओं के लिए 12,000, जो आगामी वर्ष में कुपोषण को खत्म करते हैं।
Poshan Abhiyan के अंतर्गत आंगनवाड़ी संस्थाओ ओर कर्मचारीओ को ज़िम्मेदारी
  • आंगनवाड़ी को अधिक सक्रिय किया जाएगा।
  • कार्यकर्ताओ को Smart Phone दिये जाएगे।
  • इस योजना के अंतर्गत आंगनवाड़ी कार्यकर को IT उपकरणो ( Computer, Smart Phone etc….. ) का प्रयोग करने के लिए उन्हे प्रोत्साहित करना।
  • आंगनवाड़ी मे बच्चो के कद नापने की प्रक्रिया ध्वारा बच्‍चों में उनकी लम्‍बाई कम बढने की समस्‍या का निवारण करना।
  • कार्यकर्ताओ को बच्चे के जन्म से 1000 दिन की आयु तक के स्वास्थ्य पर ध्यान देने के लिए प्रशिक्षित किया जाएगा।
  • कार्यकर्ताओ ध्वारा गर्भवती महिलाओ को कुपोषण की जानकारी देकर उन्हे पोषण युक्त खोराक की जानकारी देना।
  • रक्‍ताल्‍पता – रक्त की कमी ( Anemia ) के पीड़ितो को या उसके परिवारों को इस बीमारी से अवगत करवा कर इसके इलाज़ की जानकारी देना।
  • इसके साथ ही समाज के सभी वर्ग के ओर खास कर के पिछड़े वर्ग के लोगो को कुपोषण के प्रभाव से अवगत करवाना ओर उन्हे बतलाना की इस बीमारी की असर केवल शरीर पर ही नहीं बल्कि मानसिक असर भी होती है।

NNM मे पहल करने वाली कुछ संस्थाए

  • Accredited Social Health Activists (ASHAs) – आशा
  • Rogi Kalyan Samiti (Patient Welfare Committee) / Hospital Management Society
  • Untied Grants to Sub-Centres
  • Health care contractors
  • Janani Suraksha Yojana (JSY) – जननी सुरक्षा योजना
  • National Mobile Medical Units (NMMUs)
  • National Ambulance Services
  • Janani Shishu Suraksha Karyakram (JSSK) – जननी शिशु सुरक्षा योजना
  • Rashtriya Bal Swasthya Karyakram (RBSK) – राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम
  • Mother and Child Health Wings (MCH Wings) – मां और बाल स्वास्थ्य पंख
  • Free Drugs and Free Diagnostic Service – नि: शुल्क दवाएं और नि: शुल्क निदान ​​सेवा
  • District Hospital and Knowledge Center (DHKC) – जिला अस्पताल और ज्ञान केंद्र
  • National Iron+ Initiative
  • Trible TB Eradication Project

Poshan Abhiyan Contact Details

POSHAN Abhiyaan
National Nutrition Resource Centre – Central Project Management Unit (NNRC – CPMU)
Ministry of Women and Child Development, Government of India
3rd Floor, Jeevan Vihar Building, Sansad Marg, New Delhi – 110001

011 – 2336-2376, 2336-8202

Project Management Team के संपर्क की जानकारी पाने के लिए यहा CLICK करे। प्यारे दोस्तो National Nutrition Mission in Hindi मे आपको इस योजना के बारे मे बताया गया है। इस योजना को हमे लोगो तक पहुचाना है ओर कुपोषण को भगाना है। हमे इस योजना की जानकारी जन-जन तक पहुचानी है। अगर आपके आस-पास कोई कुपोषण का शिकार हो या रक्त की कमी का दर्दी हो तो उसे इस योजना के तहत दी गई संस्थाओ पर इलाज के लिए ले जाए या उन्हे उसके बारे मे जानकारी दे।
दोस्तों, यहां हमने आपको “पीएम मोदी पोषण अभियान (PM Modi Poshan Abhiyan 2020)” की सभी जानकारी दी हैं। यदि आपके मन में अभी भी इससे जुड़े कोई सवाल हैं, तो आप हमे नीचे कमेंट बॉक्स में लिख भेजिए। हम जल्द ही आपको जवाब देंगे। अन्य सभी सरकारी योजनाओं व प्रक्रियाओं की सबसे पहले अपडेट पाने के लिए हमारी वेबसाइट JANAMKATHA.COM के साथ जुड़े रहें। धन्यवाद-
सरकार के साथ-साथ हमे भी इस योजना को सफल बनाने के लिए प्रयास करना होगा। अधिक जानकारी के लिए ओर अपने विचार व्यक्त करने के लिए आप हमे COMMENT कर सकते है।

आपको ये पोस्ट पसंद आ सकती हैं